life style
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>> सर्दियों में घर में गर्माहट बनाए रखने के लिए चमकीले, चटख रंग के कुशन इस्तेमाल में लाए जा सकते हैं या मोमबत्तियां जलाई जा सकती हैं। इससे आपको भी गर्माहट व सुकून का अहसास होगा।  ‘एटलस इंटीरियो’ की प्रिंसिपल डिजाइनर अदिति साहनी और ‘इनलिविंग’ के निदेशक आशीष गुप्ता ने इस सर्दियों में घर में गर्माहट बनाए रखने के संबंध में ये सुझाव दिए हैं :  * चमकीले और आरामदायक, स्पॉन्जी टेक्सटाइल के इस्तेमाल के लिए सर्दी सबसे उपयुक्त मौसम है। ऊन, फॉक्स फर या मखमल के कुशन को इस्ते... Read more...
Logo
केसर का प्रयोग बिरयानी, खीर, मिठाई और केसर का दूध सौंदर्य उत्पादों में फ्लेवर डालने के लिए किया जाता है। यह आमतौर पर स्वास्थ्य के पूरक पदार्था में हाजमें को दरूस्त करने के लिए किया जाता है। केसर का सेवन करने से महिलाओं को मासिक धर्मका समस्याओं से मुक्ति मिलती है। केसर एक सुगंध देने वाला पौधा है। पतली बाली सरीखा केसर 15-25 सेंटीमीटर ऊंचा होता है। पत्तियां संकरी, लंबी और नालीदार होती हैं। इनके बीच से पुष्पदंड निकलता है, जिस पर पुष्प होते हैं।  आयुर्वेद और यूनानी चिकित्सा पद्धतियों में केसर का विशे... Read more...
Logo
तुलसी श्वास की बीमारी, मुंह के रोगों, बुखार, दमा, फेफड़ों की बीमारी, हृदय रोग तथा तनाव से छुटकारा दिलाती है। इसके साथ ही प्रजनन संबंधी रोग में भी यह काफी गुणकारी है। यह नपुंसकता, स्तंभन एवं प्रसवोत्तर शूल में यह काफी लाभकारी है।  पंतजलि आयुर्वेदके आचार्य बालकृष्ण के अनुसार, तुलसी कई रोगों में रामबाण औषधि की तरह काम करती है। उन्होंने कहा कि प्रजनन, त्वचा, ज्वर और विष चिकित्सा में तुलसी का प्रयोग लाभप्रद है। तुलसी के प्रयोग से सस्ता व सुलभ तरीके से उपचार किया जा सकता है।  प्रजनन संबंधी रोग में औ... Read more...
Logo
विंटर में बॉडी को प्राकृतिक रूप से पौष्टिक तत्व भरपूर मात्रा में मिलते हैं। यही वह वक्त भी है, जब बॉडी की एनजी में बढोतरी होती है और हैल्दी रहने के लिए अतिरिक्त प्रयास नहीं करना पडता। विंटर में जितने विटमिंस और पौष्टिक तत्व शरीर को मिलते हैं, वे साल भर बॉडी को हैल्दी बनाए रखते हैं। इसलिए भरपूर एनर्जी के लिए चाहिए खूब पोषण। शामिल करें ये कुछ चीजें अपनी डाइट में शामिल करें। अंडें- सुबह के वक्त प्रोटीन का सेवन बेहद लाभकारी है। कार्बोहाइड्रेट युक्त अन्य खाद्य पदार्थो की तुलना में अंडा खाने से लंबे ... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>> सर्दियों के दौरान मौसम में अचानक बदलाव होने से सर्दी, जुकाम से परेशान और त्वचा पर चकत्ते से पीडि़त रोगियों की संख्या बढ़ जाती है। साथ ही मौसम में एलर्जी के मामले भी अधिक देखने को मिलते हैं। कुछ लोगों को सांस लेने की समस्या और शरीर में खुजली की समस्या का भी सामना करना पड़ता है।  इंडस हेल्थ प्लस में प्रिवेन्टिव हेल्थकेयर स्पेशलिस्ट सुश्री कंचन नायकवाड़ी कहती हैं कि सर्दियों में लोग घरों के अंदर इनडोर एलर्जी के शिकार हो जाते हैं, जैसे धूल कण, सूक्ष्म जीवाणु और फफूंदी स... Read more...
Logo
आखिर खूबसूरती है क्या ! कुदरत की देन या आंखों की कल्पना। शायद दोनों का अपना-अपना नजरिया है, पर यह नजरिया तब और निखर जाएगा जब आप थोडी सूझबूझ से इसकी देखभाल करेंगी। सबसे पहले जानिए कि त्वचा कैसी है। मतलब अगर आपकी त्वचा शुष्क है, खिंची-खिंची निस्तेज और बेजान नजर आती है तो अपने चेहरे को क्रीमयुक्त क्लींजर से साफ करें। सर्दियों में मसाज बहुत जरूरी होती है, क्योंकि इस मौसम में त्वचा रूखी हो जाती है और हड्डियों के जोडों में अकडन हो जाती है। मांसपेशियों और हड्डियों के जोडों में अकडन हो जाती है। मांसपेशिय... Read more...
Logo
घर में आम तौर पर ऐसी कई सारी चीजें होती हैं जिन्हें हम रोजना मसालों के रूप में उपयोग करते हैं, इलायची को जडी बूटियों और औषधियों में सबसे श्रेष्ठ माना गया है, उसी तरह इलायची को मसालों में सर्वोपरि माना जाता है। इलायची सुंगधित होने के कारण इसका इस्तेमाल मुख शुद्धि के रूप में किया जाता है। त्यौहारों पर मीठा बनाने के लिए मसालों तथा औषधियों में भी इसका अधिक उपयोग होता है। तो आइए, जानते हैं इलायची के औषधीय गुणों के बारे में... दिखने में छोटी सी इलायची सेहत के लिए काफी लाभकारी है। भोजन में इसके प्रयोग से आ... Read more...
Logo
अपनी त्वचा को हमेशा जवां बनाए रखने के लिए आप प्राकृति के अनमोल खजाने के रूप में मुल्तानी मिट्टी का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह प्राकृतिक फेसपैक है। मुल्तानी मिट्टी को खूबसूरती का खजाना कहा जाता है। इसके प्रयोग से त्वचा खिलने के साथ-साथ दमकती भी है। मुल्तानी मिट्टी एक प्रकार की प्राकृतिक मिट्टी होती है। जिसमें कई गुणकारी तत्व पाये जाते हैं। इसमें पाया जाने वाला आयरन, मैग्नीशियम, कैलसिसाइट, क्वार्टज, कैल्शियम जैसे प्राकृतिक उपायोगी तत्व होने के कारण इसका उपयोग त्वचा एवं बालों की समस्याओं को दूर ... Read more...
Logo
अजवायन में सेहत का राज छिपा है। दादी मां के नुस्खे बिना अजवायन के पूरे नहीं होते। बडे काम की ये छोटी सी चीजें सेहत का बखूबी ध्यान रखती हैं। जिसे तरह इनकी थोडी सी मात्रा अच्छी सेहत के लिए काफी है उसी प्रकार छोटी-छोटी समस्याओं पर समय रहते ध्यान दिया जाएतो वे बडी नहीं होती है। ठंड के सीजन में सर्द से बचने के लिए अजवायन एक सफल औषधि है।  पेट की गैस में दे आराम-: अजवायन के साथ काला नमक, सौंठ तीनों को मिक्स कारके पीस लें। फिर मिक्स चूर्ण को खाने के बाद फॉकने पर अजीर्ण, अशुद्ध वायु का बनना व ऊपर चढना बंद हो जा... Read more...
Logo
बंदगोभी को पत्तागोभी भी कहा जाता है। यह एक बहुत ही फायदेमंद सब्जी है, क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में विटामिन, सल्फर, आयरन, पोटेशियम आदि पौषक तत्व पाये जाते हैं। बंदगोभी को हम कईरूपों में प्रयोग करते, सब्जी, परांठे, सलाद, अचार आदि यह खाने में बहुत ही टेस्टी होने साथ-साथ हमारे सेहत के लिए भी लाभकारी है, तो आइये जानते हैं पत्तागोभी से होने वाले लाभ के बारे में... बंदगोभी का मास्क-: चार चम्मच बंदगोभी के रस में थोडा-सा गेहूं का आटा मिलाकर चेहरे पर लेप करें। थोडी देर बाद चेहरा साफ कर लें। इससे त्वचा में कसाव ... Read more...
Logo
औषधीय गुणों से भरपूर लहसुन सिर्फ खाने में स्वाद ही नहीं बढाता बल्कि आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है और वैसे भी भारतीय रसोईघर में लहसुन से मिल जायेगा और सर्दियों के सीजन में तो यह बहुत ही लाभकारी होता है। इसमें विटामिन, प्रोटीन, खनिज, लवण और फॉस्फोरस, आयरन व विटामिन ए, बी व सी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। तो आज लहसुन के कुछ स्वास्थ्य संबंधी गुणों के बारें में जानते हैं... लहसुन बैक्टिरीअल और वायरल संक्रमण को रोकने में बहुत कारगार साबित होता है। यह फंगस, यीस्ट और कीडा से इन्फेक्शन को रोकने म... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>> सर्दियां आ रही हैं और इस मौसम के अनुकूल सही मेकअप से अपनी त्वचा को खूबसूरत और आकर्षक बनाए रखा जा सकता है। विशेषज्ञों का कहना है कि सही मेकअप के लिए क्रीम वाले ब्लशर और मैट लिपस्टिक का चुनाव आपको आकर्षक लुक दे सकता है।  वीएलसीसी ग्रुप की संस्थापक वंदना लूथरा ने कुछ मेकअप टिप्स दिए हैं, जिससे ठंड के मौसम में आपको मेकअप करने में आसानी होगी :  * सर्दियों में लिक्विड फाउंडेशन का इस्तेमाल करें। रूखी त्वचा वाली महिलाएं सर्दियों में पाउडर फाउंडेशन का इस्तेमाल करने से बचें, ... Read more...
Logo
सर्दियों में सुबह की गुनगुनी धूप भला किसे नहीं सुहाती। लेकिन ये धूप सर्दियों में ही भाती है अन्य मौसम में नहीं। अगर हर मौसम में कुछ देर धूप की सिंकाई ली जाए तो सेहत की दृष्टि से लाभदायक होता है। सुबह खुले बदन 20 मिनट तक सूर्य किरणों में बैठकर हर ऋतु में स्वास्थ्य लाभ उठाया जा सकता है। वैज्ञानिक तथ्य-: भारतीय धर्म-दर्शन अनगिनत सदियों से सूर्य को जीवनदाता मानता आया है,किंतु अब वैज्ञानिक भी सूर्य की विलक्षण रोग-निवारक शक्तियों का लोहा मानने लगे हैं। ब्रिटिश वैज्ञानिक डॉ फ्रेजर ने अपनी पुस्तक टेक्स... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> मधुमेह मेटाबोलिक बीमारियों का एक समूह है, जिसमें व्यक्ति के खून में ग्लूकोज (ब्लड शुगर) का स्तर सामान्य से अधिक हो जाता है। ऐसा तब होता है, जब शरीर में इंसुलिन ठीक से न बने या शरीर की कोशिकाएं इंसुलिन के लिए ठीक से प्रतिक्रिया न दें। जिन मरीजों का ब्लड शुगर सामान्य से अधिक होता है वे अक्सर पॉलीयूरिया (बार बार पेशाब आना) से परेशान रहते हैं। उन्हें प्यास (पॉलीडिप्सिया) और भूख (पॉलिफेजिया) ज्यादा लगती है।  जेपी अस्पताल में एंडोक्राइनोलॉजी विभाग के चिकित्सक डॉ. मनोज कुमा... Read more...
Logo
फलों के महत्व से आप सब परिचित ही होंगे, आज हम आपको छुहारे के महत्व की संक्षिप्त जानकारी देने का प्रयासा करेंगे। खजूर की सूखी हुई अवस्था को ही छुहारे के नाम से जाना जाता है। बडे ही पौष्टिक गुणों से युक्त होता है छुहारा। जाड़ों में इसका सेवन शरीर की उष्णता को गर्मियों में शरीर की ऊर्जा बरकरार रखता है छुहारा। छुहारा आयरन, कैल्यिशम, पोटेशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, मैंगनीज, तांबा आदि जैसे पोषक तत्वों से भरा हुआ है। सुबह-शाम तीन छुहारे खाकर बाद में गर्म पानी पीने से कब्ज दूर होती है। अगर शरीर में खून की क... Read more...
Logo
बदलते मौसम में त्वचा अक्सर रूखी और बेजान हो जाती है। जिससे उसका निखार खा जाता है, तो ऐसे में क्या किया जाए कि आपकी त्वचा का रेशमी एहसास भी बना रहे और उसे मखमली निखार भी मिलें। सौंदर्य व उससे जुड लगभग हर उत्पाद में तेल का प्रयोक किया जाता है। इनसे त्वचा के लिए कैसे बढिया उत्पाद तैयार किए जा सकते हैं। आइये जानते हैं। अब नहीं रूखापन-:  त्वचा से शुष्कता दू करने के लिए 1/2 कप दूध में किसी भी वेजीटेबल ऑयल की 10बूंदें मिलाएं। इस बोतल में भर कर अच्छे से हिलाएं। अब रूई के फाहे में इस मिक्सचर को लें कर त्वचा को सा... Read more...
Logo
एसिडिटी पेट में उपस्थित ग्रैस्ट्रिक गंथियो द्वारा अतिरिक्त अम्ल के साव्र को दर्शाता है। पेट में उपस्थित हाइड्रोक्लोरिक एसिड पाचन तंत्र के समुचित कार्य के लिए जिम्मेदार है। जटिल खाद्य पदार्थो को पचाने के लिए पेट मे एसिड के एक सामान्य स्तर का होना जरूरी है। अगर एसिड की मात्रा कम होती है तो खाना पूरी तरह पच नही पाता है तथा एसिड को ज्यादा होने पर भी इसके पाचन में असुविधा होती है और हम इसे एसीडिटी कहते है। एसिडिटी होने के कारण- तला हुआ तथा ठोस बिना रेशे वाला खाद्य अम्लता यानी एसीडिटी का मुख्य कारण ह... Read more...
Logo
चमकती दमकती स्किन पाने की हसरत भला किसे नहीं होती। लेकिन बदलते मौसम के कारण स्किन की चमक फीकी पडने लगती है। ऐसे में आप अगर थोडी देखभाल के जरिए अपनी स्किन की खोई हुई खूबसूरती वापस पा सकती हैं। दमकती त्वचा पाने के आसान और उपाय आपके घर में ही मौजूद हैं। कैसे तो आइये जानते हैं- त्वचा को धूल, गंदगी और सूरज की हानिकारक किरणों से बचाने के लिए सबसे अच्छा ऑप्शन दही है। 5 चम्मच दही में 1 चम्मच हल्दी और 1 चम्मच चोकर मिलाकर चेहरे पर लगाने से धूप का दुष्प्रभाव चेहरे से हट जाएगा। साथ ही, ब्लैकहैड्स और वाइटहैड्स भी ह... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> भारत में रसोईघरों में आमतौर पर पीतल के नल का प्रयोग किया जाता है, लेकिन पीने के पानी में पीतल के नलों से रिसते सीसे के कारण सेहत संबंधी कई समस्याएं पैदा हो सकती हैं। इसके देखते हुए किचन सिंक ब्रांड ‘अनुपम सिंक्स’ ने भारत में पहली बार स्टेनलेस स्टील के किचन नल लेकर आई है। किचन में उपयोग किए जाने वाले चमकदार, सुंदर नल सामान्यत: पीतल के बने होते हैं और मानव शरीर को काफी नुकसान पहुंचाते हैं। पीतल के नल पर कई घंटे या रात भर जमा रहने वाला पाने में पीतल के नल के अंदर स्थित सी... Read more...
Logo
आलू सबसे ज्यादा लोकप्रिय और सबसे ज्यादा प्रयोग की जाने वाली सब्जी है। आलू की खासियत है कि वो हर सब्जी के साथ अपना मेल-जोल बना ही लेता है। हालांकि आलू को इस गलतफहमी की वजह कि इससे मोटापा बढता है। लोग इस खाने से कतराते हैं। लेकिन आलू के जबरदस्त लाभ के बारें में जानकर आप इसे रोजाना ज्यादा से ज्यादा खाने में शामिल करने लगेंगे। आलू में कई औषधीय और सौंदर्य से जुडे गुण भी हैं। आलू पौष्टिक तत्वों से भरा होता है। आलू में सबसे ज्यादा मात्रा में स्टॉर्च पाया जाता है।  आलू में पोटेशियम, सोडा, आयरन, कैल्शियम, ... Read more...
Logo
गोभी का फूल महज एक सब्जी ही नहीं हैं, बल्कि इसमें आपकी की सेहतभरे कई गुण मौजूद होते हैं, गोभी को अपने आहार में शामिल कर आप कई बीमारियों से बच सकते हैं। साथ ही कई रोग होने पर आप गोभी के जरिये उनका उपचार भी कर सकते हैं।  गोभी में प्रोटीन, कैल्शियम, विटाममिन ए,सी, फास्फोरस, जिंग, मैग्नीशियम, सोडियम और सेलेनियम जैसे लाभकरी तत्व होते हैं। गोभी को पकाकर खाया जाता है और इसका अचार आदि भी तैयार किया जाता है। यह बहुत ही आसानी से उपलब्ध होने वाली गोभी में कई औषधीय गुण भी हैं। सामान्य बीमारी से लेकर कैंसर जैसी बी... Read more...
Logo
अनार को सबसे ज्यादा स्वास्थ्यवर्धक और पोषक तत्वों से भरपूर फल माना जाता है जो स्वाद और जायके से भरपूर है। अनार में भरपूर मात्रा में फाइबर, विटामिन सी, के होता है। अनार को आहार योजना में शामिल करना चाहिए। इससे पेट के आसपास की चर्बी कम हो जाती है।  अनार एक ऐसा फल है, जो साल भर मिलता रहता है। अनार का जूस बेहद लाभकारी होता है और लोग इसे काफी पसंद भी करते हैं। यह काफी पौष्टिक और उपयोगी है।  आजकल आये दिन स्तन कैंसर के मामले सुने में आते ही रहते हैं। इसलिए डॉक्टर्स ने महिलाओं को स्तन कैंसर से बचने के लिए ... Read more...
Logo
जिस तरह की लाइफ हम जी रहे हैं, उसमें सिरदर्द होना एक आम बात है। लेकिन यह दर्द हमारी दिनचर्या में शामिल हो जाए तो हमारे लिए बहुत कष्ठदायी हो जाता है। दर्द से छुटकारा पाने के लिए हम पेन किलर घरेलू उपाय अपनाकर इसे दूर कर सकते हैं। इन घरेलू उपायों के कोई साईड इफेक्ट भी नहीं होते।  अदरक- अदरक एक दर्द निवारक दवा के रूप में भी काम करती है। यदि सिरदर्द हो रहा हो तो सूखी अदरक को पानी के साथ पीसकर उसका पेस्ट बना लें और इसे अपने माथे पर लगाएं। इसे लगाने पर हल्की जलन जरूर होगी लेकिन यह सिरदर्द दूर करने में मददगा... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> जिन महिलाओं व पुरुषों का थायरॉयड कम या ज्यादा होता रहता है और जिसका कोई लक्षण नजर नहीं आता, यह स्थित उन्हें दिल का रोगी बना सकता है। यह कहना है एचसीएफआई के अध्यक्ष पद्मश्री डॉ. के.के. अग्रवाल का। डॉ. अग्रवाल कहते हैं कि ‘सबक्लिनिकल थॉयरायड डिस्फंक्शन’ दिल के रोगों के लिए एक ऐसा खतरा है, जिसे कम किया जा सकता है। उन्होंने पत्रिका ‘एन्लज ऑफ इंटरनल मेडिसन’ में प्रकाशित स्विट्जरलैंड की लुसेन युनिवर्सिटी के डॉ. निकोलस रोडोंडी की एक अध्ययन रिपोर्ट का हवाला देते हुए ब... Read more...
Logo
ठंडी हवाओं के चलने से कानों में अक्सर दर्द शुरू हो जाता है। वहीं एक कारण यह भी की कान में मैल जमने या फुंसी-सूजन होने, पानी चले जाने, किसी त्वचा रोग के दब जाने आदि कारणें से दर्द होने लगता है। कान का दर्द रह-रह कर उठता है, जिससे रोगी परेशान हो जाता है। कान के सभी रोगों से छुटकारा पाने के लिए घरेलू उपाय- जब कान में सांय-सांय की होने वाली आवाज गुनगुने बादाम के तेल की कुछ बूंदें डालने पर दूर हो जाती है। प्याज को पीस कर मलमल के कपडे से निचोड कर रस निकालें और प्याज के रस को थोडा गरम करके उसकी सहने लायक 2-3 बूंदें ... Read more...
Logo
हल्दी 'टर्मरकि' भारतीय वनस्पति है। आयुर्वेद में हल्दी को एक महत्वपूर्ण औषधि कहा गया है। हल्दी का भारतीय रसोई में इसका महत्वपूर्ण स्थान है और धार्मिक रूप से इसको बहुत शुभ समझा जाता है। विवाह में तो हल्दी की रसम का अपना एक विशेष महत्व है। हल्दी और दूध दोनों हीं हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभकारी है। हल्दी और गर्म दूध दोनों को मिलाकर पिया जाए, तो इसके और भी ज्यादा फायदे हैं, हरदिन हल्दी और दूध पीकर आप कई बीमारियों और संक्रमणों से बच सकते हैं।  हल्दी में विटामिन, खनिजलवण, प्रोटीन, वसा आदि सभी कुछ... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> एक अध्ययन के अनुसार, लगभग 4.2 करोड़ भारतीयों में थायरॉइड हार्मोन का स्तर असामान्य है। यह भी संकेत दिया गया है कि दुनियाभर के थायरॉइड रोगियों में 21 प्रतिशत अकेले भारत से हैं। पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में थायरॉइड विकार अधिक होते हैं। अध्ययन में थायरॉइड विकार के मामले महिलाओं में 26 प्रतिशत और पुरुषों में महज 24 प्रतिशत मिले।  विश्व आयोडीन अभाव दिवस पर, इस तथ्य के बारे में जागरूकता पैदा करने की जरूरत है कि मानव शरीर के समुचित विकास के लिए आयोडीन एक आवश्यक पोषक तत्व है। ... Read more...
Logo
आमतौर पर लड़कियां बालों को बढ़ाने के लिए हेयर पैक, ट्रिमिंग या जूडा बनाकर रखती है, कुछ लड़कियां तो बाल बढ़ाने के लिए कैस्टर आयल का इस्तेमाल भी करती है। लेकिन वे लड़कियां ये नहीं जानती कि लगाने से ज्यादा हमारा खान पान तय करता है हमारे बालों की सेहत। आज हम आपको बालों को काला व घना बनाने के लिए कुछ ऐसे आहार के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हे आप कही भी कभी भी खा सकते है।  संतरा और आंवला खाने से आपके बाल काले व घने बनते है, ये दोनों आहार शरीर में स्थित कोलैजन के प्रोडक्शन को बढ़ाता है, जिससे बालों की ग्रोथ होने ... Read more...









   STATES   
Pic
पटना (श्वेता) >>>>>>> मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ... Read more
   ASTROLOGY   
Pic
आज कलयुग के इस दौर में लोगों का एस्ट्रोलॉजी से विश... Read more