life style
Logo
अगर आप खट्टे फल खाएं तो आप दिन पर दिन सुंदर और जंवा बनती जाएंगी। इन इन्हें प्राकृतिक वसा जलाने वाला फल भी कहा जाता है। सिट्रस फल जैसे, नींबू, संतरा और मुसम्मी आदि कम कैलोरी वाले फल हैं जिन्हें आप कच्चा या रस के रूप में खा सकते हैं। इन फलों में विटामिन सी पाया जाता है जो कि झुर्रियों को दूर करने में बहुत सहायक होता है। आइये देखते हैं कि ऐसे कौन-कौन से फल हैं तो कि चेहरे से झुर्रियां भगा सकते हैं। खट्टे फल खट्टे फल जैसे मुसम्मी, नींबू, संतरा और अंगूर जैसे फलों का सेवन अधिक से अधिक मात्रा में करें क्योंकि... Read more...
Logo
घर व ऑफिस में काम करने वाली महिलाएं को पीठ दर्द रहता ही है। यह दर्द उन में अधिक पाया जाता है, जो बॉडी पोश्चर में उठती-बैठती या काम करती हैं। इसके अलावा कैल्शियम की कमी, गैस, तंत्रिकाओं पर असामान्य दबाव, इंटरवर्टिब्रल डिस्क का अपनी जगह से हटना आदि भी इसके मुख्य वजह है। घरेलू उपाय पीठ दर्द में नींबू का सेवन अत्यंत फायदेमंद होता है। एक नींबू का रस निकालकर उसमें नमक मिलाकर पीएं। नियमित रूप से दिन में दो बार इसका सेवन करने से पीठ के दर्द से छुटकारा मिलेगा। अरंडी के पत्तों पर तेल लगाकर गर्म कर लें। फिर इ... Read more...
Logo
अजवाइन में सेहत का राज छिपा है। दादी मां के नुस्खे बिना अजवायन के पूरे नहीं होते। बडे काम की ये छोटी सी चीजें सेहत का बखूबी ध्यान रखती हैं। जिसे तरह इनकी थोडी सी मात्रा अच्छी सेहत के लिए काफी है उसी प्रकार छोटी-छोटी समस्याओं पर समय रहते ध्यान दिया जाएतो वे बडी नहीं होती है। अजवाइन की पत्ती में एंटी बैक्टीरियल गुण है जो कि संक्रमण से लडने में मदद करता है। अजवाइन की ताजा पत्ती में प्रचुर मात्रा में पोषक तत्व और विटामिन है। विटामिन सी, विटामिन ए लोहा, मैंगनीज और कैल्शियम और साथ ही युक्त ओमेगा-3 फैटी ए... Read more...
Logo
नई दिल्‍ली (एजेंसी) >>>>>>> अगर आपका वजन अधिक है तो ये 3 ड्रिंक्‍स आपके काम आ सकती हैं. वजन घटाने के लिए आपको डाइटिंग या खाना छोड़ने की जरूरत नहीं है. एक मीडिया रिपोर्ट में दावा है कि इन ड्रिंक की मदद से आप सिर्फ 3 से 4 हफ्तों में 6 किलो तक वजन घटाया जा सकता है. स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञ हालांकि यह बताते हैं कि एक्‍सरसाइज करने और हेल्‍दी डाइट लेने से वजन जल्‍दी घटता है, लेकिन यह भी सही है कि वेट लॉस ड्रिंक्‍स के साथ रोजाना वर्जिश और स्‍वास्‍थ्‍यवर्धक भोजन करने से वजन और जल्‍दी घटेगा. इसके लिए आप ... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> नवरात्रि में 9 दिनों तक व्रत के दौरान कुछ लोग अपनी सेहत को नजरअंदाज कर देते हैं। लेकिन जो लोग हृदय रोग, मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी समस्या से पीडि़त हैं, उन्हें और गर्भवती महिलाओं को ऐसा नहीं करना चाहिए। ऐसे मरीजों में दिन में केवल एक बार भोजन करना समस्याएं पैदा कर सकती हैं। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) मनोनीत अध्यक्ष डॉ के.के.अग्रवाल ने बताया, ‘‘अगर पोषण की उचित गुणवत्ता शरीर को मिलती रहे, तो व्रत रखने से शरीर पर बेहद सकारात्मक प्रभाव पड़ते हैं। जिन मरीजों को दि... Read more...
Logo
दुनियाभर में सबे के गुणों में बारे में जानकारी देने के लिए यूरोप के कई देशों में एक दिसंबर को ईट ए रेड एप्पल डे बडे जोरों और शोरों से मनाया जाता है। इसमें समारोह में आपको कई अलगअलग के सेब प्रदर्शित किए जाते हैं। सेब फाइबर वाला फल है इसमें प्रोटीन, और विटामिन की संतुलित मात्रा होती है, लेकिन कैलोरी कम होती है। सेब का फल, रस, छिलका, मुरब्बा, आइसक्रीम, जैम, जैली आदि रूपों में सेवन करना स्वास्थ्य और सौंदर्य के लिए लाभकारी माना जाता है। सेब रोज खाओ और डॉक्टर को दूर भगाओ। सेब पौष्टिक तत्वों से भरा है। ये न क... Read more...
Logo
हर रसोई में हरी इलायची का इस्तेमाल होता है। इसकी खूशबू खाने का स्वाद और भी बढा देती है। हरी इलायची सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद है। इसे दूध में डालकर पीने से फ्लेवर बहुत अच्छा बन जाता है। इसे खाने से हाई ब्लड प्रैशर कंट्रोल हो जाता है, खांसी,बदहजमी, सांसों की दुर्गंध दूर करने के अलावा इसके और भी बहुत फायदे हैं।  गले की खराश - कई बार मौसम में बदलाव के कारण गला बैठ जाता है और गले में खराश भी होने लगती है। सुबह के समय और रात को 2 छोटी इलायची चबा-चबा कर खाएं। इसके बाद गुनगुना पानी पी लें। फायदा होगा।  सूज... Read more...
Logo
टोरंटो (एजेंसी) >>>>>>> नाश्ते में उच्च प्रोटीन वाला दूध पीने से मधुमेह रोगियों को रक्त में शर्करा को नियंत्रण में रखने में मदद मिलती है. कनाडा के यूनिवर्सिटी ऑफ ग्वेल्फ और यूनिवर्सिटी ऑफ टोरंटो के अनुसंधानकर्ताओं ने दिखाया है कि नाश्ते में बदलाव के जरिये टाइप टू मधुमेह के नियंत्रण में मदद मिलती है.  अनुसंधान के परिणाम के मुताबिक नाश्ते के दौरान लिये गए दूध से रक्त में ग्लूकोज की मात्रा में कमी आती है. इसमें साथ ही कहा गया कि उच्च प्रोटीन वाला दूध सामान्य प्रोटीन वाले डेयरी उत्पादों की तु... Read more...
Logo
टोरंटो (एजेंसी) >>>>>>> नाश्ते में उच्च प्रोटीन वाला दूध पीने से मधुमेह रोगियों को रक्त में शर्करा को नियंत्रण में रखने में मदद मिलती है. कनाडा के यूनिवर्सिटी ऑफ ग्वेल्फ और यूनिवर्सिटी ऑफ टोरंटो के अनुसंधानकर्ताओं ने दिखाया है कि नाश्ते में बदलाव के जरिये टाइप टू मधुमेह के नियंत्रण में मदद मिलती है. अनुसंधान के परिणाम के मुताबिक नाश्ते के दौरान लिये गए दूध से रक्त में ग्लूकोज की मात्रा में कमी आती है. इसमें साथ ही कहा गया कि उच्च प्रोटीन वाला दूध सामान्य प्रोटीन वाले डेयरी उत्पादों की तुलना... Read more...
Logo
लंदन (एजेंसी) >>>>>>> डायबिटीज से कैंसर होने का खतरा बढ़ सकता है और इससे कैंसर के मरीजों के जीवित रहने की संभावना कम हो सकती है. स्वीडिश नेशनल डायबिटीज रजिस्टर (एनडीआर) के अनुसंधानकर्ताओं के अनुसार, डायबिटीज से पीड़ित 20 प्रतिशत मरीजों में इस बीमारी से अछूते लोगों के मुकाबले कोलोरेक्टल कैंसर होने का खतरा सबसे ज्यादा होता है और पांच प्रतिशत मरीजों में स्तन कैंसर होने का खतरा अधिक होता है. जिन लोगों को कैंसर हो और वे डायबिटीज से भी पीड़ित हों तो उनमें स्तन कैंसर और प्रोस्टेट कैंसर के कारण मौत की ... Read more...
Logo
वॉशिंगटन (एजेंसी) >>>>>>> वैज्ञानिकों का कहना है कि सामाजिक सहायता देने खासकर जरूरतमंद लोगों की मदद करने से अभिभावकीय देखभाल से संबंधित दिमाग के कुछ हिस्से सक्रिय होते हैं. ये परिणाम सामाजिक संबंधों के सकारात्मक स्वास्थ्य प्रभावों को समझने में शोधकर्ताओं की मदद कर सकते हैं. एक शोध के मुताबिक तुलनात्मक रूप से देखा जाए तो अलक्षित समर्थन देना जैसे परोपकार के लिए दान करने से इसी तरह के न्यूरोबायोलॉजी संबंधी प्रभाव नहीं पड़ते हैं. अमेरिका की पिट्सबर्ग यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने विभिन्न क... Read more...
Logo
कील-मुंहासे व पिंपल केवल चेहरे तक ही सीमित नहीं रहते बल्कि यह सीने, गले तथा पीठ पर भी हो जाते हैं। आमतौर पर पीठ पर पिंपल ज्यादा होते हैं। इनके होने के पीछे का कारण हार्मोन है, जो ज्यादा सीबम पैदा करते हैं और पिंपल बनाते हैं। अगर आप भी चाहती हैं कि आपकी पीठ बिल्कुल साफ और बेदाग दिखे, तो कुछ ऎसे घरेलू उपचार हैं जिनकी मदद से आप पीठ पर होने वाले मुंहासे से छुटकारा पा सकती हैं। अपनाएं यह घरेलू उपचार।  कीली-मुंहासे, चेहरे पर धब्बे, मुंहासों के निशान लम्बे समय तक कच्चो नारियल का पानी लगाने से मिट जाते हैं। ... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> दफ्तर में कामकाज के दौरान गलत मुद्रा में लगातार चार-पांच घंटे तक बैठे रहने से कमर दर्द की शिकायत हो सकती है. बैठे रहना संभवत: नया धूम्रपान है और पीठ दर्द नवीनतम जीवनशैली का विकार है .  बैठने की मुद्रा और शारीरिक गतिविधि पर पर्याप्त ध्यान देना आवश्यक है. हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया (एचसीएफआई) के अध्यक्ष डॉ. के.के. अग्रवाल का मानना है कि आज लगभग 20 प्रतिशत युवाओं को 16 से 34 साल आयु वर्ग में ही पीठ और रीढ़ की हड्डी की समस्याएं हो रही हैं. डॉ. अग्रवाल ने यहां जारी एक बयान में कहा... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> आपने भुने हुए चने तो खाए ही होंगे. अगर आप भुने हुए चनों को केवल स्वाद के लिए कभी-कभी खाते हैं तो इन्हें रोजाना खाना शुरू कर दीजिए. भुने हुए चने खाने से शरीर को जबरदस्त स्वास्थ्य लाभ होता है. हो सकता है आपको भी चने खाने से होने वाले फायदों के बारे में जानकारी न हो. ध्यान रखें कि बाजार में भुने हुए चने दो तरह के होते हैं छिलके वाले और बिना छिलके वाले. आपको बिना छिलके वाले चने ही खाने हैं, चने के छिलके भी सेहत के लिए अच्छे होते हैं. भुने हुए चने को यदि सही तरीके से चबा चबाकर खाया ज... Read more...
Logo
मेवे का प्रयोग उत्तम औषधि के रूप में किया जाता है। क्येांकि मेवा स्वाद की नहीं बल्कि सेहत की दृष्टि से भी उतनी ही फायदेमंद हैं। काजू में मैग्नीशियम पाया जाता हैं जो उच्च रक्तचाप को कम करने में और दिल के दौररे को रोकने में मदद करता है। काजू कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी संतुलित रखता है। काजू में प्रोटीन की मात्रा काफी होती है जो बॉडी व हड्डियों को मजबूत बनाती है। चाहे मिठाई में काजू कतली हो या फिर दूसरे पकवानों में काजू का इस्तेमाल।  काजू किसी भी आम डिश को शाही बना सकता है। अब जब काजू हमें इतना पसंद ह... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> शहद सेहत के लिए रामबाण माना जाता है. शहद के औषधीय गुणों के चलते इसका सेवन बहुत आम बात है. वहीं, शहद अपनी शुद्धता खो रहा है, क्योंकि इसमें मिलावट बढ़ गई है. फूड सेफ्टी की सबसे बड़ी बॉडी FSSAI का मानना है कि शहद में मिलावट हो रही है. मिलावटखोरी के धंधे को देखते हुए FSSAI ने बाजार में बिक रहे कई ब्रांड की टेस्टिंग भी कराई है, लेकिन रिपोर्ट पर कुछ नहीं कहा है.  एफएसएसआई के रेगुलेशन और कॉडेक्स विभाग के एडवाइजर सुनील बक्शी ने कहा कि पुराने मानकों में मिलावट का प्रावधान नहीं था, इसलिए प... Read more...
Logo
केला पूजा-पाठ से लेकर ब्यूटी प्रॉडक्टस तक में इस्तेमाल किया जाता है। खाना खाने के बाद केला खाने से भोजन आसानी से पच जाता है। अपच के मरीजों के लिए भी यह अच्छा रहता है। रोज सुबह एक केला और एक गिलास दूध पीने से वजन कंट्रोल में रहता है और बार-बार भूख भी नहीं लगती। केला खाने से हाई ब्लड प्रेशर और यूरिन की समस्या को दूर करने में मदद मिलती है कच्चे केले को दूध में मिलाकर लगाने से त्वचा निखर जाती है और चेहरे पर भी चमक आ जाती है। गर्भावस्था में महिलाओं के लिए केला बहुत अच्छा होता है क्योंकि यह विटामिन से भरपू... Read more...
Logo
क्या आप देर से सोने जाते हैं? क्या आप बाकियों की तुलना में अभद्र शब्दों का अधिक इस्तेमाल करते हैं? हो सकता है कि इसकी वजह से घर-बाहर आपकी आलोचना होती हो लेकिन एक नए शोध में यह दावा किया गया है कि बात कुछ और है. दरअसल एक रिसर्च में यह दावा किया गया है कि इस तरह के लोग आमतौर पर ईमानदार और बुद्धिमान होते हैं. इस शोध में यह भी कहा गया कि ये लोग थोड़ा बेतरतीब ढंग से जीते हैं. बहुत सुव्यस्थित नहीं होते. अक्सर अपनी बातों, भावों, विचारों को पुख्ता तरीके से रखने के लिए ऐसे शब्दों का इस्तेमाल करने से भी गुरेज नहीं क... Read more...
Logo
लंदन (एजेंसी) >>>>>>> ब्रिटेन में कॉन्टेक्ट लेंस पहनने वालों की आंखों में संक्रमण पाया गया. यह संक्रमण रोका जा सकता है लेकिन इससे व्यक्ति अंधेपन का शिकार भी हो सकता है. ब्रिटिश जर्नल ऑफ ऑप्थालमोलॉजी में प्रकाशित शोधपत्र के मुताबिक ऐसे लोग जिनकी आंखों में संक्रमण है और वे पुन: उपयोग होने वाले कॉन्टेक्ट लेंस पहनते हैं, तो ऐसी संभावना है कि ऐसे लोगों ने अप्रभावी कॉन्टेक्ट लेंस सॉल्यूशन का इस्तेमाल किया है, उन्होंने पानी या खराब साफ-सफाई के कारण कॉन्टेक्ट लेंस को दूषित कर लिया हो. ब्रिटेन में यू... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> दिनभर के कामों के बाद शाम तक आते-आते थकान होना बहुत आम बात है. थकान शारीरिक और दिमागी दोनों तरह की हो सकती है. थकान के कारण- थकान कई बार लाइफस्टाइल ठीक ना होने के कारण या अधिक एल्कोहल लेने के कारण होती है तो कई बार किसी मेडिकल कंडीशन या साइक्लोजिकल कारणों से भी होती है. बहुत ज्यादा कॉफी पीना, शारीरिक रूप से सक्रिय ना होना, जंकफूड अधिक खाना या नींद पूरी ना लेने के कारण भी थकान अधिक होती है. डिप्रेशन, तनाव, कैंसर, मोटापा, डायबिटीज और दिल की बीमारी भी थकान का कारण हो सकते हैं. थक... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> अगर आप कॉफी और चाय पीने के शौकीन हैं तो आप के दिल के लिए यह एक बेहद अच्छी खबर है क्योंकि एक नई रिसर्च में पाया गया है कि चाय और कॉफी दिल की सेहत के लिए अच्छी  है. चलिए जानते हैं क्या कहती है रिसर्च. क्या कहती है रिसर्च- रिसर्च के मुताबिक, दिल के असामान्य तरीके से धड़कने, घबराहट और बेचैनी से चाय या कॉफी आसानी से निजात दिला सकते हैं. आमतौर दिल की धड़कन तेज़ और असामान्य होने पर मरीजों को कैफीनयुक्त पेय पदार्थ के सेवन के लिए मना किया जाता है लेकिन इस रिसर्च के नतीजे इससे कुछ अल... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> अगर आप विटामिन 'डी' की कमी से गुजर रहे हैं तो सावधान हो जाएं क्योंकि एक हालिया रिसर्च में ये बात सामने आई है कि विटामिन डी की कमी भी बन सकती है डायबिटीज के होने का कारण. जानिए, क्या कहती है रिसर्च. क्या कहती है रिसर्च- रिसर्च के मुताबिक, डायबिटीज की बीमारी के होने का एक कारण विटामिन डी की कमी भी हो सकती हैं. किसने की रिसर्च- अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया सैनडियागो और दक्षिण कोरिया की सोल नेशनल यूनिवर्सिटी ने 903 स्वस्थ लोगों पर ये रिसर्च की. किन लोगों पर की गई रि... Read more...
Logo
हल्दी एक ऐसा ही प्रकृतिक मसाला है, जिसके इस्तेमाल से झुर्रियां ठीक होती हैं और चमकदार त्वचा भी प्राप्त होती है और वैसे भी साफ, चमकदार खूबसूरत त्वचा कौन नहीं चाहता...लेकिन दाग-धब्बे सुंदरता में बाधक हैं। फिर चाहे वो धूप की वजह से टैनिंग हो या बरसों पुराना चोट का निशान हो। कुछ दाग काफी जिद्दी होते हैं और ये कई कोशिशें करने के बाद भी नहीं जाते। विस्तार से जानें के लिए आगे की स्लाइड्स पर क्लिक करें... हल्दी शहद पेस्ट  इस पेस्ट को बनाने के लिए शहद और हल्दी में थोडी सी बूंद गुलाब जल की मिला दें। फिर पेस्ट क... Read more...
Logo
अक्सर करके खाने की थाली में बैंगन आलू का ही नंबर सबसे ज्यादा आता है मसालों के साथ लटपटे बैंगन के साथ आलू में खास स्वाद से बनी बैंगन आलू की स्वादिष्ट सब्जी है और यह बडी ही आसानी से बन जाती है। यह सब्जी भारत में उगती है। बैंगन एक बहुत ही पौष्टिक सब्जी है लेकिन कुछ लोग इसे बिना गुण वाली सब्जी मानते हैं। अगर आप भी उन्हीं लोगों में से एक है और बैंगन की सब्जी नहीं खाते हैं तो आज हम आपको अवगत करवाते हैं बैंगन के ऐसे गुणों से जिन्हें जानने के बाद आपकी गलतफहमी दूर हो जाएगी। बैंगन में प्रोटीन, विटामिन ए, विटामि... Read more...
Logo
मक्खन के बिना भारतीय नाश्ता अधूरा होता है। शायद ही कोई दिन ऐसा होगा जब आप इनसे बच पाती हों। लेकिन कैलरी के लिहाज से कौन ज्यादा हेल्दी ऑप्शन है यह जानना भी जरूरी है। इस बार जानिए मक्खन सेहत के लिए कितना बेहतर है। आयुर्वेद के अनुसार मक्खन इतना लाभकारी है कि हर इंसान को रोज इसे खाना चाहिए। जहां इन दिनों लोग डायटिंट के नाम पर मक्खन और घी से दूर भागते हैं वहीं पुराने जमाने में मक्खन इसलिए खाया जाता था कि शरीर तुंदुरूस्त बना रहे।  दूध, मक्खन और चीज के बिना हमारे दिन की शुरूआत ही नहीं होती। ब्रेड बटर हो ... Read more...
Logo
टोरंटो (एजेंसी) >>>>>>> यूं तो झुर्रियां बढ़ती उम्र की निशानी होती हैं लेकिन हाल ही में हुए एक अध्ययन में खुलासा हुआ है कि हंसने के दौरान जिन लोगों की आंखों के आसपास झुर्रियां पड़ती हैं उन्हें लोग अधिक ईमानदार समझते हैं. कनाडा की वेस्टर्न यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने पाया कि हमारा मस्तिष्क इस प्रकार का होता है कि वह आखों के आस पास झुर्रियों को बेहद प्रचंड और बेहद ईमानदार भाव के तौर पर लेता है. आखों के पास झुर्रियों को ड्यूकेन मार्कर कहते हैं और तमाम तरह की भावनाओं को व्यक्त करने पर यह उभर कर स... Read more...
Logo
हरी चाय पीने से शरीर में ताजगी का एहसास होता है। यदि आप लगातार काम कर रहे हैं और आपको थकावट महसूस हो रही है। तो आप एक कप हरी चाय पीए। आपको एक का प्याला फिर से तरोताजा कर देगा। हरी चाय का इस्तेमाल ज्यादातर मोटापा घटाने के लिए आजकल किया जाता है। मोटापा बहुत तेजी से बढ रहा है। क्योंकि लोग अपने खानपान और रहन-सहन को मेंटेन नहीं रख पाते। उनकी दिनचर्या बदलती जा रही है। ज्यादातर वहीं लोग मोटापे का शिकार होते हैं जो शारीरिक मेहनत नहीं करते और फिर मोटोपे से परेशान होकर उनको घटाने की नाकाम कोशिश करते रहते हैं... Read more...
Logo
टोरंटो (एजेंसी) >>>>>>> नाश्ते में उच्च प्रोटीन वाला दूध पीने से मधुमेह रोगियों को रक्त में शर्करा को नियंत्रण में रखने में मदद मिलती है. कनाडा के यूनिवर्सिटी ऑफ ग्वेल्फ और यूनिवर्सिटी ऑफ टोरंटो के अनुसंधानकर्ताओं ने दिखाया है कि नाश्ते में बदलाव के जरिये टाइप टू मधुमेह के नियंत्रण में मदद मिलती है.  अनुसंधान के परिणाम के मुताबिक नाश्ते के दौरान लिये गए दूध से रक्त में ग्लूकोज की मात्रा में कमी आती है. इसमें साथ ही कहा गया कि उच्च प्रोटीन वाला दूध सामान्य प्रोटीन वाले डेयरी उत्पादों की तु... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> शुरुआती तीन वर्षो में बच्चे के विकास से उसके फेफड़ों के विकास पर असर करता है और 10 साल की आयु में दमा का खतरा बढ़ जाता है. एक शोध में पता चला है. हालिया शोध के अनुसार, जीवन के शुरुआती वर्षो में अत्यधिक वजन बढ़ने से शिशुओं को लोवर लंग फंक्शन और बचपन के अस्थमा के खतरे को बढ़ सकता है. नीदरलैंड के एरास्मस विश्वविद्यालय में हुए नए अध्ययन में खुलासा हुआ है कि जिन शिशुओं का वजन सर्वाधिक रफ्तार से और सबसे ज्यादा बढ़ा है. 10 वर्ष की आयु में उन्हें लोवर लंग फंक्शन की समस्या हुई. विश्वव... Read more...
Logo
ह्यूस्टन (एजेंसी) >>>>>>> अगर आप लंबे समय तक बैठकर काम करते रहते हैं, कोई ब्रेक नहीं लेते तो इससे आपको स्वास्थ्य संबंधी बहुत सी दिक्कतें हो सकती हैं. वैज्ञानिकों ने यह जानकारी दी है. लगातार बैठे रहने को कम करने के लिए सर्वाधिक प्रभावी और व्यावहारिक तरीका क्या हो सकता है, इस पर अभी और अध्ययन किए जाने की जरूरत है. अमेरिका में रियो ग्रांदे वैली में यूनिवर्सिटी आफ टेक्सास की लिंडा इयानेस ने यह जानकारी दी है. इयानेस ने बताया, ‘‘ लंबे समय तक बैठे रहने के खराब प्रभावों के बारे में जागरूकता फैलाने मे... Read more...
Logo
गोभी का फूल महज एक सब्जी ही नहीं हैं, बल्कि इसमें आपकी की सेहतभरे कई गुण मौजूद होते हैं, गोभी को अपने आहार में शामिल कर आप कई बीमारियों से बच सकते हैं। साथ ही कई रोग होने पर आप गोभी के जरिये उनका उपचार भी कर सकते हैं। गोभी में प्रोटीन, कैल्शियम, विटाममिन ए,सी, फास्फोरस, जिंग, मैग्नीशियम, सोडियम और सेलेनियम जैसे लाभकरी तत्व होते हैं।  गोभी को पकाकर खाया जाता है और इसका अचार आदि भी तैयार किया जाता है। यह बहुत ही आसानी से उपलब्ध होने वाली गोभी में कई औषधीय गुण भी हैं। सामान्य बीमारी से लेकर कैंसर जैसी बी... Read more...
Logo
ज्यादातर लोग खाने के बाद कुछ मीठा खाना पसंद करते हैं ताकि उसका स्वाद देर तक मुंह में बना रहे। इतना ही नहीं बचपन से ही हमें यह सिखाया जाता है कि हमें अपना खाना पूरा फिनिश करना चाहिए और आखिर में डिजर्ट यानी मीठा खाना चाहिए। यहां तक की ज्यादातर रेस्तरां और ईटिंग आउटलेट्स के मेन्यू में भी डिजर्ट सबसे आखिर में होता है। लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं मीठे से जुड़ी एक अहम बात।  मीठा खाकर करें दिन की शुरुआत  जी हां, और वो अहम बात यह है कि आपको अपने दिन की शुरुआत कुछ मीठा खाकर करनी चाहिए। आयुर्वेद की मा... Read more...
Logo
दूध का नाम सुनते ही कई लोगों की मुंह, नाक-भौं सिकुड जाती है, पर यदि उन्हें ठंडे दूध के लाभ के बारे में पता चल जाए तो इससे कभी पीना नहीं छोडेंगे। दूध सेहत के लिये सबसे उत्तम पेय पदार्थ है।  दूध में कैल्शियम और विटामिन डी होता है जो न केवल हड्डियों के लिये ही बल्कि पूरी सेहत के लिय बढियां माना जाता है। कई लोगो को दूध पीना पसंद नहीं होता। वहीं कई लोग दूध को ठंडा और कई लोग गरम दूध पानी पीना पसंद करते हैं। लेकिन क्या अपने कभी सोचा है कि दोनों में से कौन सा दूध पीना ज्यादा बेहतर है। आइये आज इसी विषय पर बात कर... Read more...
Logo
कुछ लोगों को लेटते ही नींद आ जाती है। लेकिन कुछ लोगों को रोज रात को जल्दी सोने में परेशानी होती है। हालांकि कई रिसर्च में कहा जा चुका है कि रोजाना रात को 7-9 घंटे की नींद लेना बेहद जरूरी है, लेकिन ज्यादातर लोग ऐसे हैं जो इससे बहुत कम सोते हैं। कई उपाय ऐसे हैं जिनकी मदद से इस समस्या को कम किया जा सकता है। रात को जल्दी सोने के उपाय और फायदों पर डालें एक नजर... अगर आप वयस्क हैं तो रोजाना साढ़े 7 से साढ़े 8 घंटे के आसपास नींद लेने की जरूरत है। बच्चे (5 साल और उससे ऊपर) और किशोरों को साढ़े 8 से 11 घंटे, यानी इस उम्र में ... Read more...
Logo
कीवी छोटा फल होता है, जो फाइबर और न्यूटीएंट्स के साथ विटामिन सी से भरपूर होता है। यह स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी फल है। आप इसका जूस निकालकर पी सकते हैं या इसके फल को खा सकते हैं। इसमें केले से भी ज्यादा पौटेशियम होता है। यह बीटा कैरोटीन का बेहद अच्छा सोर्स होती है। कीवी कफ, सांस लेने में तकलीफ आदि को कम करता है।  कीवी फल को सेवन करने से व्यक्ति का व्यवहार खुशनुमा और सारा दिन शरीर में स्फूर्ति बनी रहती है। कीवी कैसर जैसे बीमारी से राहत दिलवाता है। यह अस्थमा से भी बचता है। इनके साथ ही यह कोलेस्ट्र... Read more...
Logo
सूखे मेवों में बादाम सबसे पौष्टिक माना जाता है। बादाम में कई पौषक तत्व शामिल हो जैसै-विटामिन, वसा, फोलिक एसिड, मिनरल, प्रोटीन और रेशा भरपूर मात्रा में पाई जाते हैं। स्वस्थ शरीर की आधारशिला संतुलित और उचित आहार पर टिकी रहती है। जैसे ही यह संतुलन गढबडाता है, स्वास्थ्य खराब हो जाता है। वहीं बदलते मौसम का शिकार वे ही लोग होते हैं, जिनकी इम्यूनिटी पावर कमजोर होती है। अगर आप अपनी इम्यूनिटी पावर मजबूत रखेंगे, तो आप खुद को बीमार होने से बचा सकते हैं। बादाम प्रोटीन, मैग्निशियम, पोटैशियम, जिंक, आयरन और फाइबर... Read more...
Logo
अनार सेहत के साथ त्वचा के लिए भी फायदेमंद है। अनार में मुख्य रूप से विटामिन ए, सी, ई, फॉलिक एसिड और कई तरह के एंटी ऑक्सिडेंट पाए जाते हैं। कई सौंदर्य उत्पादों में भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। अनार में मौजूद विटामिन ई त्वचा को चमक प्रदान करता है और नए स्किन टिशूज के बनने में मदद करता है।  इसके अलावा अनार त्वचा के दाग-धब्बों को दूर कर रंगत को एक समान बनाता है। अनार से बना स्क्रब त्वचा की डेड स्किन सेल्स को निकालता है और रंगत निखारता है। इस स्क्रब को घर पर भी आसानी से बनाया जा सकता है।  अनार के छिलके... Read more...
Logo
बरसात के मौसम में मच्छर रात की नींब उडा तो देते ही हैं साथ ही ये अनेक बीमारियां भी फैलाते हैं। जिसमें सबसे ज्यादा खतरनाक है डेंगू। डेंगू एक बीमारी हैं जो एडीज इजिप्टी मच्छरों के काटने से होती है।  इस रोग में तेज बुखार के साथ शरीर के उभरे चकत्तों से खून रिसता हैं। डेंगू बुखार धीरे-धीरे एक महामारी के रूप में फैल रहा है। यह ज्यादातर शहरी क्षेत्र में फैलता है। अगर आप इन तंग करने वाले मच्छरों से छुटकारा पाने के प्राकृतिक उपचार से खोज रहे हैं तो यहां आगे की स्लाइड्स पर एक नजर डालिये और मच्छरों निजात प... Read more...
Logo
मोटापा एक ऐसी बीमारी है जो अपने साथ बीमारियों का पूरा पैकेज लेकर आती है। आज की व्यस्त जीवनशैली, तनाव और खानपान को लेकर लापरवाही मोटापे को न्योता देते हैं। यहां हम खानपान से जुड़े ऐसे उपाय बता रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप न सिर्फ मोटापे से दूर रहेंगे बल्कि उससे जुड़ी अन्य बीमारियों जैसे हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, अर्थराइटिस से भी बचें रहेंगे।  कुछ लोग लगातार जिम या सैर करके वजन पर कंट्रोल रखते हैं तो कुछ डाइट प्लान फॉलो करते हैं। अगर आपके पास जिम जाने या सैर करने का समय नहीं है तो कुछ प्राकृतिक और घ... Read more...
Logo
भारतीय रसोई में प्रयोग की जाने वाली एक खूशबुदार ताजी हरी पत्ती है जो कि शानदार सुगंधित जडी बूटी में से एक है। जहां यह व्यंजनों में स्वाद व खुशबू बढने का काम करता है। वहीं धनियां से हेल्थ और ब्यूटी के कई सारे लाभ होते हैं। धनियें में विटामिन सी, विटामिन के और प्रोटीन का भी अच्छा सोर्स होता है। इसमें बहुत कम मात्रा में कैल्शियम, पोटैशियम, कैरोटीन और फॉस्फोरस पाया जाता है।  त्वचा पर मस्सों से मुक्ति के लिए हरा धनिया बहुत कारगर इलाज है। इस उपाय को करने के लिए हरे धनिया को पीसकर उसका पेस्ट बना लें और इ... Read more...
Logo
शंखपुष्पी एक पादक है। शंख के समान आकृति वाले श्र्वेत पुष्प होने से इसे शंखपुष्पी कहते है। शंखपुष्पी दूध के समान सफेद फूल है। यह सारे भारत में पथरीली भूमि में जंगली रूप में पायी जाती है।  इनमें से श्र्वेत पुष्पों वाली शंखपुष्पी ही औषधि मानी गई है। आयुर्वेद में हर तरह के रोगोंं व विकारों का रामबाण इलाज होने के वजह से लोहा पूरी दुनिया व ऐलोपैथिक डॉक्टरों ने भी माना है। आयुर्वेद की नजर में शंखपुष्पी स्मरणशक्ति को बढाकर मानसिक रोगों व मानसिक दौर्बल्यता को नष्ट करती है।  इसे लैटिन में प्लेडेरा ... Read more...
Logo
नींबू स्फूर्तिदायक और रोग निवारक फल है। इसका रंग हरा या पीला तथा स्वाद खट्टा होता है। इसके रस में 5 प्रतिशत साइट्रिक अम्ल होता है।  इसमें फ्लेवनॉयड्स होते हैं जो पाचन तंत्र को ठीक रखते हैं। यही वजह है कि पेट खराब होने पर नींबू पानी पिलाया जाता है। इसमें मौजूद विटामिन सी शरीर में पोप्टिक अल्सर नहीं बनने देता है। साफ-सुथरी और दमकती त्वचा के लिए भी यह अच्छा ऑप्शन है। इसमें मौजूद विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट्स त्वचा की कोशिकाओं को सुरक्षित रखते हैं, दाग हल्के करते हैं और त्वचा को अल्ट्रावॉयलेट कि... Read more...
Logo
अच्छी दिनचर्या से शरीर को हैल्दी और खूबसूरत आजीवन बनाया रख जा सकता है। अधिकांश महिलाओं को कोई बीमारी नहीं होती, उनकी सिर्फ जीवनशैली गलत होती है। गलत जीवनशैली से शरीर का पूरा सिस्टम ही गडबडा जाता है और इस सिस्टम के सुधरने पर ही स्वास्थ्य एवं सौंदर्य में निखार आता है। महिलाएं सुबह बिस्तर छोडते ही काम में लग जाती हैं। उन्हें अपने खानपान की तरफ जरा भी ध्यान नहीं होता है। उनकी यह आदत धीरे-धीरे उन्हें कमजोर और कांतिहीन बना देती है-सुबह का नाश्ता करने के बाद ही घर के कार्यो में लगें। दिन के इस बससे कीमत... Read more...
Logo
न्यूयार्क (एजेंसी) >>>>>>> अगर आप डिप्रेशन जैसी परेशानी से बचना चाहते हैं तो अंगूर जरूर खाएं. अंगूर खाने से मनोविकार कम होता है. यह बात एक हालिया शोध में उजागर हुई है. क्या कहती है रिसर्च- शोधकर्ताओं का कहना है कि डायट में अंगूर को शामिल करने से मानसिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है, जबकि अंगूर रहित आहार का सेवन करने वालों को निराशा और हताशा जैसे विकारों के लिए डॉक्टर्स के पास जाना पड़ता है. ऑनलाइन 'नेचर कम्यूनिकेशंस' में प्रकाशित शोध के नतीजे बताते हैं कि डायट में अंगूर शामिल करने स... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> डायबिटीज के मरीज अब रोजाना बेहिचक अंडे खा सकते हैं और ऐसा करने में उन्हें कोई नुकसान नहीं होने वाला है. जानिए क्या कहती है रिसर्च. क्या कहती है रिसर्च- एक नए शोध में पता चला है कि हफ्ते में 12 अंडे तक खाने से टाइप टू डायबटिज वाले मरीजों को दिल की बीमारियों का कोई खतरा नहीं है. दरअसल अंडों में कोलेस्टेरोल का स्तर अधिक पाया जाता है, जिसकी वजह से डायबिटीज के मरीजों को आम तौर पर अंडे से बचने की सलाह दी जाती है. अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लीनिकल न्यूट्रीशन में प्रकाशित एक शोध के हवाले ... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>> भागदौड़ भरी जिंदगी में सेहत को बनाए रखने के लिए फल काफी फायदेमंद साबित होते हैं. आपके डाइट के लिए फल का सेवन काफी हद तक लाभदायक होता है. वहीं, फल का सेवन लोग ऐसे भी करते हैं. ज्यादातर लोग फल के छिलके छिलकर खाना पसंद करते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि फल के छिलके उतार कर खाने से इसका फायदा हमें कम मिलता है. छिलाक उतार कर फल खाने से सब बेकार हो जाता है. कुछ ऐसे फल हैं जिनके छिलके में फल से भी ज्यादा पौषटिक होता है. कुछ ऐसे फल हैं जिन्हें आप छिलका छिलकर खाना पसंद करते हैं. लेकिन ऐ... Read more...
Logo
अमरूद की तासीर शीतल होती है। यह पेट के अनेक विकार दूर करता है। इस भोजन के बाद खाने से कब्ज, अफारा व मंदाग्रि की शिकायत नहीं होती। यह सर्दी-जुकाम में अमरूद के बीजों का चूर्ण पानी के साथ लेने से आराम मिलता है। अमरूद में विटामिन सी अधिक होने से भी अनेक बीमारियों में फायदा होता है। 1-अमरूद काकाटकर उस पर काला नमक और कालीमिर्च का चूर्ण डालकर खाने से अफारा रोग दूर होता है तथा पाचन क्रिया सुधरती है।  2-अमरूद कृमिनाशक भी है, छोटे बच्चों के पेट में कीडे हों, तो अमरूद के साथ शहद मिलाकर देने से कीडे नष्ट हो जाते ... Read more...
Logo
नाशपाती में बहुत से विटामिन्स और मिनरल्स होते हैं इसलिए इसको खाने से हमारे शरीर को विटामिन्स और मिनरल्स की पूर्ति हो जाती है। खट्टी-मीठी और रसीली स्वाद की नाशपाती होती है। तो आइये जानते हैं नाशपाती के सेहत के लिए औषधीय गुण मौजूद होते है।  नाशपाती में फाइबर की काफी अच्छी मात्रा होती है, जोकि पाचन तंत्र को स्ट्रॉग बनाती है। नाशपाती खाने से कब्ज की परेशानी से राहत मिलती है।  नाशपाती का सेवन करने से पाचनतंत्र से संबंधित बीमारियों में लाभ होता है। यह बालों के झडने, धब्बेदार अध: उम्र बढते की प्रक... Read more...
Logo
अदरक का भारतीय मसालों में खूब प्रयोग किया जाता है। यही नहीं अदरक मॉनसून सीजन में बीमारियों से भी बचती है। अदरक में कैल्शियल, आयरन, कॉपर, मैग्नीशियम जिंक आदि मिनरल भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं। तो आइए जानते हैं अदरक के लाभकारी गुणों के बारे में... मॉनसून में होने वाली बीमारियों से जैसे नाक से पानी बहना, सिरदर्द और सर्दी को तुरंत दूर कर देती है। एक कप अदरक, शहद और तुलसी के पत्तो वाली याय बनाकर पीने से जुखाम में राहत मिलती है। अदरक का रस कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल रखता है, जिससे दिल की बीमारी की संभावना ... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>> कई रिसर्च में ये बात साबित हो चुकी है कि डार्क चॉकलेट खाने से वजन कम करने से लेकर हार्ट तक को हेल्दी बनाया जा सकता है. लेकिन क्या आप जानते हैं डार्क चॉकलेट से इम्यून सिस्टम भी मजबूत किया जा सकता है. हाल ही में एक शोध में बात सामने आई है. क्या कहती है रिसर्च- रिसर्च के मुताबिक, डार्क चॉकलट खाना ओवरऑल हेल्थ के लिए अच्छा हो सकता है. दरअसल, डार्क चॉकलेट खाने से तनाव कम होता है जिससे ना सिर्फ मूड अच्छा होता है और याददाश्त, बढ़ती है बल्कि इम्यून सिस्टम भी बेहतर होता है. रिसर्च में प... Read more...
Logo
एसीडिटी पेट में उपस्थित ग्रैस्ट्रिक गंथियो द्वारा अतिरिक्त अम्ल के साव्र को दर्शाता है। पेट में उपस्थित हाइड्रोक्लोरिक एसिड पाचन तंत्र के समुचित कार्य के लिए जिम्मेदार है। जटिल खाद्य पदार्थो को पचाने के लिए पेट मे एसिड के एक सामान्य स्तर का होना जरूरी है। अगर एसिड की मात्रा कम होती है तो खाना पूरी तरह पच नही पाता है तथा एसिड को ज्यादा होने पर भी इसके पाचन में असुविधा होती है और हम इसे एसीडिटी कहते है। एसीडिटी होने के कारण- तला हुआ तथा ठोस बिना रेशे वाला खाद्य अम्लता यानी एसीडिटी का मुख्य कारण ह... Read more...
Logo
औषधीय गुणों से भरपूर लहसुन सिर्फ खाने में स्वाद ही नहीं बढाता बल्कि आपके स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है और वैसे भी भारतीय रसोईघर में लहसुन से मिल जायेगा । इसमें विटामिन, प्रोटीन, खनिज, लवण और फॉस्फोरस, आयरन व विटामिन ए, बी व सी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। तो आज लहसुन के कुछ स्वास्थ्य संबंधी गुणों के बारें में जानते हैं... लहसुन बैक्टिरीअल और वायरल संक्रमण को रोकने में बहुत कारगार साबित होता है। यह फंगस, यीस्ट और कीडा से इन्फेक्शन को रोकने में मदद करता है। लहसुन कानों में दर्द हो, तो लहुसन के त... Read more...
Logo
इस भाग-दौड भरी जिन्दगी में हर किसी के कंधों पर काम की जिम्मेदारी इतनी अधिक हो जाती है। कि यह टेंशन कभी-कभी डिप्रेशन का विक्राल रूप धारण कर लेती है जिससे व्यक्ति के सोचने समझने की शक्ति खत्म हो जाती है। लेकिन अब परेशान होने की जरूरत नहीं है और ना ही डिप्रेशन से बचने के लिए ढेर सारी दवाइयाँ खाने की जरूरत है। आपको जानकर ताज्जुब हो कि सिर्फ मीठी खाने से ही आपको डिप्रेशन से राहत मिल सकती है। चीनी का प्रयोग फिकेपन को दूर करने को किया जाता है। जब भी आपको शरीर में थकावट या लो महसूस हो तो शुगर से बने पदार्थो ... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>> डायबिटीज के मरीज अब रोजाना बेहिचक अंडे खा सकते हैं और ऐसा करने में उन्हें कोई नुकसान नहीं होने वाला है. जानिए क्या कहती है रिसर्च. क्या कहती है रिसर्च- एक नए शोध में पता चला है कि हफ्ते में 12 अंडे तक खाने से टाइप टू डायबटिज वाले मरीजों को दिल की बीमारियों का कोई खतरा नहीं है. दरअसल अंडों में कोलेस्टेरोल का स्तर अधिक पाया जाता है, जिसकी वजह से डायबिटीज के मरीजों को आम तौर पर अंडे से बचने की सलाह दी जाती है. अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लीनिकल न्यूट्रीशन में प्रकाशित एक शोध के हवाले से बताया ... Read more...









   SPORTS   
Pic
मुंबई (एजेंसी) >>>>>>> एक अज्ञात महिला लेखक द्व... Read more