astrology
Logo
हनुमान जयंती के दिन सुबह जल्दी उठकर सभी नित्य कर्मों से निवृत्त होने के बाद हनुमान जी की पूजा-अर्चना करनी चाहिए। कहा जाता है कि इस दिन व्रत रखने से मां लक्ष्मी जातक को धन-संपदा देती है। यज्ञोपवीत धारण करके किसी सिद्ध हनुमान मंदिर में जाकर चमेली का तेल या घी चढ़ायें और दीपक जलायें, इसके बाद हनुमान जी का श्रंगार करके चोला चढ़ाएं। इस साल शुक्रवार 19 अप्रैल 2019 को हनुमान जयंती का पर्व देशभर में मनाया जायेगा। हनुमान जी की पूजा के दौरान जरूर ध्यान रखें ये बाते  यह बात हम सभी जानते है कि हनुमान जी ब्रह्मच... Read more...
Logo
दुनिया में शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जिसे सुख-समृद्धि, धन-धान्य और ऐशो-आराम की जरूरत नहीं है। कई बार आप कठिन परिश्रम करने के बाद भी अपेक्षित फल नहीं पाते। तरह-तरह के उपाय भी कई बार आपको निराशा से नहीं निकाल पाते। अगर आप भी इस परेशानियों से परेशान है तो आज हम आपको कुछ उपाय बताने जा रहे है जिसको आजमाने के बाद आप आपका भला हो सकता है। वो कौनसे उपाय है आइए जानते है। सोमवार को शिवलिंग पर चढ़ाएं दूध... देवों के देव भगवान शिव बडे दयालु है। उनकी कृपा जिस व्यक्ति पर हो जाए वो समझों सफल हो गया। उनकी पूजा करने से... Read more...
Logo
देवी लक्ष्मी का व्रत रखने के लिए शुक्रवार का दिन उत्तम माना जाता है। इसे वैभवलक्ष्मी व्रत भी कहते हैं। मान्यता है इस दिन वैभवलक्ष्मी का व्रत रखने से धन, वैभव और ऐश्वर्य की प्राप्ति होती है। इस व्रत को स्त्री और पुरुष दोनों रख सकते हैं। व्रत की विधि व्रत की शुरुआत करते वक्त 11 या 21 व्रत की मन्नत करें। किसी शुक्रवार अगर आप घर के बाहर हैं तो अगले शुक्रवार व्रत रखें, मतलब इस व्रत का पालन घर पर ही करें। शुक्रवार को दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर भगवान विष्णु का अभिषेक करें। साथ ही पीले कपड़े में पांच लक्ष्... Read more...
Logo
किसी भी इंसान के अंगों को देखकर उसके स्वभाव, गुण और उसके आने वाले समय के बारे में जाना जा सकता है। ऐसे में समुद्रशास्त्र में इन सभी बातों का जिक्र किया गया है जो हम बताने जा रहे हैं। हम आपको पुरूषों के उन अंगों के बारे में बताने जा रहे हैं जो उसके धनी होने का संकेत देते हैं। कोई भी व्यक्ति पुरूषों के इन अंगों को देखकर जान सकता है कि वह कितना भाग्यशाली होगा। आइए इसके बारे में जानते हैं। समुद्रशास्त्र के अनुसार, अगर किसी पुरूष की गर्दन छोटी और सामान्य होती है तो ये बहुत शुभ मानी जाती है और ऐसी गर्दन वा... Read more...
Logo
चैत्र नवरात्र‍ि के आरंभ के साथ ही बड़ी उत्सुकता से रामनवमी का इंतजार होता है। रामनवमी का त्यौहार चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की नवमी मनाया जाता है। हिंदू धर्मशास्त्रों के अनुसार इस दिन भगवान श्री राम जी का जन्म हुआ था।  इस वर्ष पुष्य नक्षत्र एक दिन पहले यानि 13 अप्रैल शनिवार के दिन आ रहा है, जिसके कारण नक्षत्र के आधार पर भ्रम की स्थि‍ति निर्मित हो रही है, और कुछ पंडितों का मानना है कि अगर पुष्य नक्षत्र के आधार पर देखें तो रामनवमी 13 अप्रैल को मनाई जानी चाहिए। ज्योतिषों के अनुसार विचार किया जाए, तो 14 अ... Read more...
Logo
अक्सर देखा जाता है कि कुछ इंसान ऐसे होते हैं जो थोड़े ही मेहनत में हर काम में सफल हो जाते हैं वहीं दूसरी ओर ऐसे भी लोग हैं जो लाख कोशिश करने क बाद भी असफल रह जाते हैं।  समुद्रशास्त्र में इसका कारण बताया गया है। हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार हथेली पर कुछ निशान शुभ होते है तो कुछ अशुभ। शुभ निशान होने पर व्यक्ति भाग्यशाली और धनवान बनता है। वहीं हथेली पर अशुभ निशान होने पर व्यक्ति का जीवन कंगाली में बीतता है। आइए हथेली पर बने ऐसे ही कुछ अशुभ निशानों के बारे में जानते हैं। कटी हुई भाग्यरेखा... हथेली पर भाग... Read more...
Logo
हिन्दू धर्म के अनुसार साल में दो बार नवरात्र आते हैं। दोनों ही नवरात्र का महत्व और पूजा विधि अलग है। नवरात्र में मां के नौ रूपों की उपासना होती है। नवरात्रों में माता के हर मंदिर में जय-जयकार होती है। नवरात्रों की धूम में लाल रंग में मां की अलग ही छवि देखी जा सकती है।  माता के श्रृंगार में हर चीज लाल रंग देखने को मिलता है। लेकिन क्या आप जानते है कि मां के चढ़ावे में लाल रंग का ही समान रखा क्यों रखा जाता है। मां की पोशाक की बात हो, चूडिय़ां या सिंदूर सब लाल ही होता है। दरअसल, इसके पीछे पौराणिक और वैज्ञा... Read more...
Logo
चैत्र नवरात्रि का आज पांचवां दिन है। नौ दिनों में पूरे विधि-विधान से मां शक्ति के नौ रूपों मां शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चन्द्रघंटा, कुष्माण्डा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और मां सिद्धिदात्री की पूजा होती है। मां दुर्गाजी की पांचवीं शक्ति का नाम माता स्कंदमाता है। मां दुर्गाजी के पांचवें स्वरूप को स्कन्दमाता के नाम से जाना जाता है। इनकी उपासना नवरात्र के पांचवें दिन की जाती है। भगवान स्कन्द कुमार कात्र्तिकेय नाम से भी जाने जाते हैं।  ये प्रसिद्ध देवासुर-संग्राम में देवताओं क... Read more...
Logo
चैत्र नवरात्रि का आज चौथा दिन है। नौ दिनों में पूरे विधि-विधान से मां शक्ति के नौ रूपों मां शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चन्द्रघंटा, कुष्माण्डा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और मां सिद्धिदात्री की पूजा होती है। मां दुर्गाजी की चौथी शक्ति का नाम माता कुष्माण्डा है।  आज के दिन मां दुर्गा के चौथे स्वरूप मां कुष्माण्डा की उपासना की जाएगी। इसके अलावा आज वैनायकी गणेश चतुर्थी व्रत भी है। देवी कुष्मांडा आदिशक्ति का चौथा स्वरूप हैं। अपनी मंद, हल्की हंसी के द्वारा अण्ड यानी ब्रह्मांड को उत्प... Read more...
Logo
नवरात्रि का आज दूसरा दिन है। नौ दिनों में पूरे विधि-विधान से मां शक्ति के नौ रूपों मां शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चन्द्रघंटा, कुष्माण्डा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और मां सिद्धिदात्री की पूजा होती है।  मां दुर्गा के नौ रूपों में मां ब्रह्माचारिणी की पूजा की जाती है। मां की पूजा नवरात्र की द्वितीया तिथि पर होती है। मां ब्रह्माचारिणी की पूजा करने से जातक को जीवन में कठिन क्षणों में भक्तों को आत्मबल और संबल देता है। मां ब्रह्माचारिणी का स्वरूप पूर्ण ज्योतिर्मय और भव्य होता है।  ... Read more...
Logo
चैत्र नवरात्र शनिवार से शुरू होंगे। शास्त्रों में घट स्थापना का समय स्वभाव, भाव, लग्नयुक्त प्रात:काल श्रेष्ठ बताया गया है।  ज्योतिषाचार्य पंडित पुरुषोत्तम गौड़ के अनुसार शुभ का चौघडिय़ा 7:50 से 9:23 तक रहेगा। चर का चौघडिय़ा 12:27 से 2:02 तक रहेगा। अभिजीत मुहूर्त दोपहर 12:05 से 12:55 तक रहेगा। लाभ और अमृत का चौघडिय़ा दोपहर 2:02 से शाम 5:09 बजे तक रहेगा।  उन्होंने बताया कि शास्त्र मत के अनुसार चित्रा नक्षत्र तथा वैधृति योग के दो चरणों को त्यागकर घटस्थापना की अनुमति प्रदान की है। इस वर्ष वसंत नवरात्र पर वैधृति योग र... Read more...
Logo
ज्योतिष शास्त्र की सलाह से कई लोग हाथ में रत्नों वाली अंगूठी या फिर ब्रेसलेट में या गले की चेन में रत्नों को मढ़वाकर पहनते हैं। ये रत्न भिन्न-भिन्न रंगों के होते हैं। इन्हें पहनने के पीछे का कारण भी जातक की कुंडली के होता है। लेकिन आजकल रत्नों के अलावा भी कई तरह की अंगूठियां लोगों के हाथों में दिखती हैं जिसमें से एक है ‘कछुए वाली अंगूठी।’  आजकल आपने देखा होगा की कछुवे की अंगूठी पहने आपने बहुत लोगों को देखा होगा। पर बहुत से लोग नहीं जानते की कछुवे वाली अंगूठी पहनना शुभ भले ही माना जाता है पर हर... Read more...
Logo
चैत्र के नवरात्र इस बार 6 अप्रैल से शुरू हो रहे हैं। इन नौ दिनों में पूरे विधि-विधान से मां शक्ति के नौ रूपों मां शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चन्द्रघंटा, कुष्माण्डा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और मां सिद्धिदात्री की पूजा होती है। 6 अप्रैल से शुरू हो रहे चैत्र नवरात्रि 14 अप्रैल को राम नवमी के त्योहार के साथ संपन्न होंगे।  हिंदू नववर्ष का प्रारंभ... चैत्र नवरात्र से हिंदू नववर्ष का प्रारंभ माना जाता है और पंचांग की गणना की जाती है। पुराणों के अनुसार चैत्र नवरात्रि से पहले मां दुर्गा अवत... Read more...
Logo
हिन्दू धर्म के मतानुसार सृष्टि रचना का आरंभ चैत्र शुक्ल प्रतिपदा को हुआ था, इसलिए हमारा हिन्दू वर्ष इसी दिन से शुरू होता है, जिसका पूर्वाद्र्ध छह माह आश्विन कृष्ण अमावस्या को समाप्त होता है और उत्तराद्र्ध भाग आश्विन शुक्ल प्रतिपदा से आरंभ होता है। इसी के साथ ही मां के नौ रूपों की उपासना का पर्व शुरू होने वाला है। इस साल चैत्र नवरात्र 6 अप्रैल से शुरू हो रहे हैं।  नवमी तिथि 14 अप्रैल की है। इन नौ दिनों मां नौ रुपों की पूजा की जाती है। शुभ मुहूर्त में कलश स्थापना अच्छा रहता है। यूं तो साल में दो बार न... Read more...
Logo
धार्मिक गंथों में ऐसी कई सार्वभौमिक सत्य बातें बताई गई हैं, जिनका अनसुरण कर हम अपना सौभाग्य लिख सकते हैं या प्रतिकूल ग्रहों को अनुकूल बना सकते हैं। आइए जानें ऐसी पांच चीजों के बारे में जो हमारे अच्छे व सुखद भविष्य की भी नींव रखती हैं।  थाली में न छोडें झूठा अन्न शास्त्रानुसार कभी भी खाने की प्लेट में जूठा नहीं छोडऩा चाहिए और न ही कभी जूठे बर्तनों को यूं ही पढ़े रहने देना चाहिए। रात को सोने से पहले सभी जूठे बर्तन धो लेने चाहिए अन्यथा इससे घर में अशांति का वातावरण बनना शुरु हो जाएगा जो अंतत: घर के द... Read more...
Logo
देवों के देव कहे जाने वाले भगवान शिव की सभी लोग पूजा करते है। ज्योतिष के अनुसार, भगवान शिव की पूजा करने से हर कष्ट दूर हो जाते है। इसलिए उनका पूजन लिंग रूप में किया जाता है। लेकिन क्या आप जानते है कि घर में शिवलिंग रखें या न रखें इस बारे में लोगों के मन में बहुत से शक और सवाल रहते हैं।  घर मे सुख शांति व सकारात्मक ऊर्जा के लिए महादेव शिव के प्रतीक शिवलिंग को घर में स्थापित करते समय कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना चाहिए।  ज्योतिष के मुताबिक, घर के मंदिर में रखे गए शिवलिंग का आकर हमारे अंगूठे से बड़ा नह... Read more...
Logo
कई बार ऐसा होता है कि इंसान कडी मेहनत करने के बाद भी अपनी जिंदगी में पैसे की तंगी से जूझता ही रहता है और धनवान नहीं बन पाता है। लेकिन ज्योतिष में कुछ ऐसे उपाय भी बताए गए हैं जिन्हें करने से अपार धन संपदा हासिल कर धनवान बनने का सपना पूरा किया जा सकता है। आखिर किस तरह यह सब किया जा सकता है, आइए जानते है। ज्योतिष के अनुसार, हर व्यक्ति की जन्मपत्री में दूसरा भाव धन का होता है और अगर यह भाव किसी पाप ग्रह से पीडित हो या कोई अशुभ ग्रह इस भाव में बैठता हो तो धन की समस्या बनी रहती है। जन्मपत्री का ग्यारहवा भाव ला... Read more...
Logo
भारत में नींबू मिर्च को घरों, दफ्तरों, दुकानों, ट्रकों में लटकाना आम है। मिर्ची के साथ नींबू को लटकाना अच्छा माना जाता है। लोगों का मानना है कि इस से बुरी नजर नहीं लगती। ज्योतिष के अनुसार, नींबू और मिर्च लटकाने का अर्थ आज भी टोटके के रूप में जाना जाता है।  भारतीय संस्कृति मान्यताओं और दैवीय शक्तियों के मार्गदर्शन की और अग्रसर होने वाली प्राचीन सभ्यता है। हिन्दू धर्म जीवन की प्राथमिकताओं को आस्था और परंपरा की मर्यादा में रखकर खुशहाल एवं संपन्न जीवन यापन करने वाला एक विशेष धर्म है।  पौराणिक मान्... Read more...
Logo
घर का सामान आपके जीवन, धन-संपत्ति और खुशहाली के साथ-साथ आपके व्यक्तित्व पर भी गहरा प्रभाव डालता है।  वास्तुशास्त्र के कुछ मौलिक सिद्धांत तो लगभग सभी लोगों को मालूम होते भी हैं, जैसे कि दक्षिण दिशा में मुख्य द्वार नहीं बनाना चाहिए, उत्तर दिशा में तिजोरी रखना और घर में गंदगी इक्कठी ना होने देना...वगैरह-वगैरह। लेकिन कुछ वास्तु टिप्स ऐसे होते हैं, जो आपके व्यक्तित्व पर भी बहुत गहरा असर छोड़ते हैं।  अगर आप उदास रहते हैं या फिर आपको लगता है कि आत्मविश्वास की कमी के कारण आप अपने उद्देश्य को प्राप्त नह... Read more...
Logo
हिन्दू धर्म शास्त्रों के अनुसार, किसी भी शुभ काम के करने से पहले गणेश पूजन आवश्यक हैं। इससे प्रसन्न होकर गणेश जी सारे काम निर्विध्न कर देते हैं। हिन्दू संस्कृति और पूजा में भगवान श्रीगणेश जी को सर्वश्रेष्ठ स्थान दिया गया है। प्रत्येक शुभ कार्य में सबसे पहले भगवान गणेश की ही पूजा की जाती अनिवार्य बताई गयी है। देवता भी अपने कार्यों की बिना किसी विघ्न से पूरा करने के लिए गणेश जी की अर्चना सबसे पहले करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि गणेश जी की पूजा में दूर्वा का सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण मानी जाती है और सा... Read more...
Logo
भगवान श्रीकृष्ण को बांसुरी बहुत प्रिय है। बांसुरी कृष्णजी को प्रिय होने के कारण उसको प्रकृति का अनुपम वरदान है। ज्योतिष के अनुसार बांसुरी का इस्तेमाल अगर सोच समझकर किया जाए तो यह हमें कई प्रकार के दोषों से बचाती है।  वास्तु और फेंगशुई के अनुसार, बांसुरी को अगर घर, दुकान में रखा जाए है तो इसके कई लाभ मिलते हैं। बांसुरी से होने वाले लाभ कौन-कौन से है, आइए जानते है।  फेंगशुई विद्या के अनुसार, बांसुरी घर में रखना बहुत शुभ माना गया है। यह उन्नति और प्रगति दोनों देने में बहुत सहायक है। इस प्रकार बां... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>  हर साल रंगों का पावन पर्व होली खुशियों की सौगात लेकर आता है, लेकिन कई बार जाने-अनजाने में हम कुछ गलतियां कर जाते हैं, जिससे इस पर्व की मिठास और रंग फीका पड़ जाता है। शास्त्रों के अनुसार पावन पर्वों पर गलत कार्य करने से उसका दुष्प्रभाव हमारे जीवन पर जरूर पड़ता है। ऐसे में आइए जानते हैं होली से जुड़ी वो 7 बातें जिन्हें भूलकर भी नजरंदाज नहीं करना चाहिए।  जोश में होश खोने से बचें  1. रंग और उमंग से जुड़े होली महापर्व पर अक्सर लोग जोश में होश खो देते है। होली के दिन कई लोग भा... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>  होली का संबंध सिर्फ रंगों से नहीं बल्कि अग्नि से भी है। वही अग्निदेव जिनकी पूजा सुख-समृद्धि और सेहत के लिए की जाती है और जिनके बगैर कोई पूजा पूरी नहीं होती है। होली के त्योहार से शिशिर ऋतु की समाप्ति तथा वसंत ऋतु का आगमन होता है।  आयुर्वेद के अनुसार दो ऋतुओं के संक्रमण काल में मानव शरीर रोग और बीमारियों से ग्रसित हो जाता है। इस ऋतु में शरीर में कफ की मात्रा बढ़ जाती है और वसंत ऋतु में तापमान बढ़ने पर कफ के शरीर से बाहर निकलने की प्रक्रिया में कफदोष पैदा होता है, जिसके का... Read more...
Logo
आंखों को व्यक्तित्व का आइना कहा जाता है। समुद्रशास्त्र में भी आंखों के बारे में जिक्र किया गया है और बताया गया है कि कैसे आप किसी से पहली बार मिलने पर ही उसके स्वभाव को भली-भांति जान सकते हैं।  समुद्रशास्त्र के अनुसार, आंखों को देखकर हम पता लगा सकते हैं कि कौन वफादार और कौन धोखेबाज है। आज हम ऐसे राज बताने जा रहे हैं जिनके जरिए आप दूसरों के बारे में सिर्फ उनकी आंखें देखकर पता लगा सकते हैं, आइए जानते है। बड़ी आंखें...  समुद्रशास्त्र में बताया गया है कि बड़ी आंखों वाले लोग बहुत वफादार होते हैं। इन्ह... Read more...
Logo
हिन्दू धर्म में पूजा का बहुत महत्व है। यहां पर हर कार्य शुरू करने से पहले भगवान को याद किया जाता है। यहां पर हर हिंदू के घर आपको भगवान की कोई ना कोई प्रतिमा अवश्य मिल जाएगी। ऐसे में जहां भगवान होते हैं वहां पूजा भी जरूर होती हैं। शास्त्रों के अनुसार, हमें दिन में दो बार सुबह और शाम भगवान की पूजा करना चाहिए। घर में भगवान की पूजा करने से कई सारे लाभ होते हैं। इस पूजा को करने के लिए हम ज्यादातर दीपक और अगरबत्ती का इस्तेमाल करते हैं। जब भी भगवान की आरती की जाती हैं तो उनके सामने दीपक लगाया जाता हैं। साथ ह... Read more...
Logo
अक्सर हम एक बात सुनते है कि इंसान अपनी किस्मत ऊपर से लिखवा के लाता हैं। लेकिन ये बात भी सच है कि भगवान ने हर किसी के जीवन के लिए कुछ ना कुछ सोचा होता हैं। हालांकि कुछ खास लोग ऐसे भी होते हैं जिनका जीवन सुख सुविधाओं और भोग विलास जैसी सुविधाओं से संपन्न होता हैं। बस फर्क इतना होता हैं कि किसी को ये सुख सुविधाएं बचपन से ही मिल जाती हैं तो कोई अपनी मेहनत और भाग्य के दम पर इसे जीवन के आने वाले समय में हासिल करता है।  ज्योतिष के अनुसार, बहुत बार ऐसा देखा जाता है कि किसी इंसान की जिदंगी ऐशो आराम से गुजरती है, ... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>  न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च मस्जिद हमले में एक भारतीय की मौत हो गई है। भारतीय गुजरात के नवसारी का रहने वाला था। भारतीय कम से कम नौ लोगों के लापता होने के समाचार मिल रहे हैं। इस बीच शनिवार को आरोपी ब्रेंटन हैरिसन टारंट को कोर्ट में पेश किया गया। उसे बिना किसी दलील सुने 5 अप्रेल तक हिरासत में भेज दिया गया। आपको बताते जाए कि ब्रेंटन ने दो मस्जिदों पर गोलीबारी की थी और लाइव वीडियो बनाते हुए 49 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। ब्रेंटन हैरिसन की पहचान ऑस्ट्रेलियाई नागरिक के... Read more...
Logo
वास्तु तथा चाईनीज वास्तु अर्थात फेंगशुई शास्त्र के सिद्धांतों को अपनाकर व्यक्ति जीवन में सुख-समृद्धि और खुशियां पा सकता है तथा छोटे-छोटे उपाय अपनाकर अपनी सभी इच्छाओं की पूर्ति की जा सकती है तथा सर्वदा के लिए धन और ऎश्वर्य की देवी लक्ष्मी जी को भी अपने घर में स्थायित्व दिया जा सकता है। यही वजह है कि वास्तु और फेंग शुई में कछुए की खास जगह है और फेंग शुई के ज्यादात्र सिंबल्स में कछुआ मिलता ही है। माना जाता है कि अगर इसे घर में सही दिशा में और सही जगह पर रखा जाए तो घर में सुख-समृद्धि जरूर आती है। कछुआ न... Read more...
Logo
सभी ग्रहों में सूर्य पुत्र भगवान शनिदेव को सबसे कू्रर ग्रह माना गया है। भगवान शनिदेव हर राशि में विचरण करते हैं। किसी राशि में शनिदेव ढाई वर्ष तो किसी राशि साढे सात वर्ष तक रहते हैं। भगवान शनिदेव को कर्मो के अनुसार दण्ड देने का प्रतीक माना जाता है।  जो जैसा कार्य करता है भगवान शनिदेव उसे वैसा ही दण्ड देते हैं। जिस किसी भी कुण्डली में शनिदेव विराजमान होते हैं वे इंसान हमेशा परेशान रहते हैं। शास्त्रों के अनुसार कुछ उपाय करने से शनिदेव शांत रहते हैं और उस इंसान को शनिदेव कम परेशान करते हैं।  शन... Read more...
Logo
हिंदू धर्म में भगवान श्रीगणेश को प्रथम पूज्य माना गया है अर्थात सभी मांगलिक कायों में सबसे पहले श्रीगणेश की ही पूजा की जाती है। श्रीगणेश की पूजा के बिना कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता। जीवन में कभी भी परिस्तिथियां एक सामान नहीं रहती। किसी भी व्यक्ति को जीवन में कभी भी संकट का सामना करना पड सकता है। अत: निम्न स्तुति से भगवान श्रीगणेश का बडी ही सरलता से प्रसन्न किया जा सकता है। गणपति स्तोत्र:- गणपति: विघ्नराजो लम्बतुन्डो गजानन:।  द्वै मातुरश्च हेरम्ब एकदंतो गणाधिप:।।  विनायक: चारूकर्ण: पशुपाल... Read more...
Logo
हिंदू धर्म और शास्त्रों में कई ऐसे शुभ और अशुभ संकेतों के बारे में बताया गया है जिनसे आप भविष्य में होने वाली कुछ घटनाओं के बारे में पहले से ही जान सकते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, हमारे आस-पास कई बार कुछ ऐसी घटनाएं होती हैं, जिनके होने का आभास हमें बहुत पहले ही हो जाता है। लेकिन कई बार लोग इन घटनाओं के होने से पहले के संकेतों पर ध्यान नहीं देते हैं। शकुन शास्त्र में ऐसी ही कई बातों के बारे में बताया गया है।  इन बातों से आप भविष्य में होने वाली अच्छी और बुरी दोनो तरह की घटनाओं के बारे में आसानी स... Read more...
Logo
इस साल देशभर में 20 मार्च को होली का पर्व मनाया जाएगा। बता दें कि 13 मार्च से 20 मार्च तक होलाष्टक रहेगा और 20 मार्च को होलिका दहन के साथ यह समाप्त हो जाएगा। ज्योतिष शास्त्रों के अनुसार होलाष्टक का अशुभ माना गया है।  मान्यता है कि भगवान विष्णु भक्त प्रह्रलाद को मारने के लिए उसके पिता हरिण्यकश्यप ने कई कोशिश की थी। आखिर में उसने अपनी बहन होलिका को मारने के लिए भेजा तब भगवान विष्णु ने लगातार 8 दिनों तक भक्त प्रह्रलाद की रक्षा की। इसी कारण होली के पहले आठ दिनों को अशुभ माना जाता है। वहीं ज्योतिषीय कारण ह... Read more...
Logo
कुंडली को जन्म-कुंडली, जन्म पत्रिका, जन्म-पत्री, वैदिक कुंडली आदि नामों से भी जाना जाता है। एक कुंडली नक्षत्रों और ग्रहों की उन सटीक स्थितियों को दर्शाती है जो जातक के जन्म के समय आकाश में थीं। इन खगोलीय स्थितियों को सरल रूप में कुंडली की सूरत में चिन्हित किया जाता है जिससे उसका विश्लेषण किया जा सके। कुंडली में बारह भाव होते हैं। इन भावों में स्थित नौ ग्रह विभिन्न योग बनाते हैं। ग्रहों की स्थिति और अन्य ग्रहों के साथ युति के आधार पर ही व्यक्ति के सुख-दुख और धन संबंधी मामलों का अनुमान लगाया जाता ह... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>  आज फुलैरा दूज तिथि है। फाल्गुन महीने में शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को फुलैरा दूज मनाई जाती है। इसे फाल्गुन मास में सबसे पावन दिन माना जाता है। आज भी गांवों में इस त्योहार को मनाया जाता है।  इस दिन गांवों में बच्चे फूलों को तोडक़र इसकी रंगोली बनाते हैं। कहा जाता है कि इस दिन का हर क्षण शुभ और पवित्र होता है। इस बार यह 8 मार्च को मनाई  जाएगी।  इष्ट देव को गुलाल चढ़ाया जाता है इस दिन सर्दी के मौसम के बाद इसे शादियों के सीजन का अंतिम दिन माना जाता है। इसलिए इस दिन रिकॉर... Read more...
Logo
लगभग सभी लोगों की यही इच्छा रहती है कि उसके पास बहुत सारा धन हो जिससे वह अपना जीवन ठीक प्रकार से व्यतीत कर सके अधिक धन कमाने के चक्कर में सभी लोग दिन-रात कड़ी मेहनत करते हैं। परंतु कड़ी मेहनत करने के बावजूद भी धन कमाने में सफलता हासिल नहीं हो पाती है। ऐसी स्थिति में व्यक्ति निराश हो जाता है और अपने भाग्य को दोष देने लगता है। दरअसल, शास्त्रों के अनुसार हमारे अंदर कई ऐसी छोटी-छोटी आदतें होती है जो हमें धनवान नहीं बनने देती। आज हम इस लेख के माध्यम से ऐसी आदतों के बारे में बताने वाले हैं जो आदतें व्यक्ति... Read more...
Logo
धरती पर कुछ भी अशुभ कार्य होने से पहले मनुष्य जाति को उसके होने के संकेत जरूर मिलते हैं। घर में छोटी से छोटी वस्तु का अपना ही महत्व होता है। कभी-कभी बेकार समझी जाने वाली वस्तु भी घर में अपनी उपयोगिता सिद्ध कर देती है। ज्योतिषशास्त्र के मुताबिक, इंसान से कई बार कई तरह की गलतियां हो जाती हैं। रसोई में काम करते समय अचानक हाथ से कुछ गिर जाए तो इसे सामान्य प्रक्रिया मानकर नजरअंदाज कर दिया जाता है।  वास्तुशास्त्री एवं ज्योतिषशास्‍त्री इसे भविष्य में आने वाले बुरे समय का संकेत मानते हैं। आईए जानें क... Read more...
Logo
गुरू ग्रह ज्योतिष के नव ग्रहों में सबसे अधिक शुभ ग्रह माने जाते हैं। जीवन में हर क्षेत्र में सफलता के पीछे गुरू ग्रह की स्थिति बेहद महत्वपूर्ण मानी जाती है। कुंडली में अगर गुरू मजबूत हो तो सफलता का कदम चूमना बिल्कुल तय है। सफलता के पीछे सकारात्मक उर्जा का होना अहम होता है और यही काम गुरू करते हैं। गुरू जीवन के अधिकतर क्षेत्रों में सकारात्मक उर्जा प्रदान करने में सहायक होते हैं। अपने सकारात्मक रूख के चलते व्यक्ति कठिन से कठिन समय को आसानी से सुलझा लेता है। यदि कुंडली में गुरू ग्रह (बृहस्पति) से स... Read more...
Logo
आज के दौर में इतनी चिताएं हैं कि कभी कोई भी व्यक्ति बिना किसी चिंता या तनाव के रह ही नहीं सकता। कई बार ये चिंताएं खुद पर भारी पड जाती हैं और व्‍यक्ति डिप्रेशन में आ जाता है। हम आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे ज्योतिषीय उपाय कि चिंता आपसे हमेशा के लिए दूर हो जाएगी।  जिस समय दिमाग में टेंशन हो एक लोटे में या जग में पानी लेकर उसके अन्दर चार लालमिर्च के बीज डालकर अपने ऊपर सात बार उतारा (उसारा) करने के बाद घर के बाहर सडक पर डाल दे। तुरंत आराम मिल जाएगा। रोज़ हनुमान जी का पूजन करे व हनुमान चालीसा का पाठ करें। प्रत... Read more...
Logo
भारतीय जीवन में गांवों से लेकर शहरों तक व्रतों एवं उत्सवों का स्थायी प्रभाव है। भारत पर्व एवं उत्सवों का देश माना जाता है। महाशिव रात्रि पर्व भी संपूर्ण भारत के साथ-साथ नेपाल व मॉरीशस सहित अन्य कई देशों में उत्साह पूवर्क मनाया जाता है। महाशिव रात्रि का व्रत फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी को किया जाता है। यह भगवान शिव का त्यौहार है, जिसका हर शिवभक्त वर्षभर बेसब्री से इंतजार करते हैं और शिव की भक्ति और भांग के रंग में मग्न हो जाते हैं।  पुराणों के अनुसार, इसी दिन सृष्टि के आरंभ में मध्यरा... Read more...
Logo
महाशिवरात्रि हिन्दुओ का एक प्रमुख पर्व है। हिन्दू धार्मिक मान्यताओ के अनुसार, इस दिन भगवान शिव का विवाह जगत जननी माता पार्वती के साथ हुआ था। जिसके उपलक्ष्य में हर साल बड़े धूमधाम से यह पर्व मनाया जाता है और इस दिन स्नान, विधि विधान से पूजापाठ करके भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न किया जाता है और और सभी भगवान शिव से मंगल कामना करते है।  महाशिवरात्रि पर्व हिन्दू धर्म पंचांग के अनुसार फाल्गुन महीने के कृष्ण पक्ष में चतुर्दर्शी के दिन मनाया जाता है और हिन्दू धर्म के अनुसार महाशिवरात्रि के दिन ही हिदू देव... Read more...
Logo
हर व्‍यक्ति के जीवन में शांति और सम्पन्नता का होना जरूरी है और सम्पन्नता के लिए लक्ष्मी का प्रसन्न होना बेहद आवश्यतक है। वास्तु शास्त्र के अनुसार कुछ खास बातें नहीं की जाएं तो लक्ष्‍मी की कृपा और आशीर्वाद हमेशा बना रहता है।  वास्तु शास्त्र के अनुसार घर के दरवाजों को कभी भी ना खटखटाएं। घर के गेट पर बैल लगाएं या आवाज देकर मालिक को बुलाएं। गेटों को खटखटाने और बजाने से वास्तु दोष बढता है। ऐसे में लक्ष्मी वहां ज्यादा दिनों तक टिकती नहीं है। वास्तु के अनुसार सर्वप्रिय देव श्रीगणेश की मालिक द्वा... Read more...
Logo
धर्म शास्त्रों में भगवान सूर्य की पूजा-अर्चना का विशेष महत्व है। सूर्य उपासना से न केवल सुख-समृद्धि आती है, बल्कि यश भी बढ़ता है। महिलाओं को रविवार और सोमवार को सूर्योपासना से घर में समृद्धि व गर्भवती महिलाओं को गुणी पुत्र की प्राप्ति होती है। बह्मवैवर्त पुराण के अनुसार इन दिनों में खेजड़ी के पेड़ के नीचे प्रात: काल सूर्योपासना करते हुए इस मंत्र का 51 बार जाप करने से लाभ मिलता है- नम: उग्राय वीराय सारंगाय नमो नम:। नम: पद्मप्रबोधाय प्रचंडाय नमोऽस्तु ते ।। ओम आदित्याय नम: । आत्मबल, बुद्धि, इन्द्रिय... Read more...
Logo
मकर संक्रांति का त्यौहार हिन्दू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है। यह त्यौहार माघ माह में कृष्ण पंचमी को मकर सक्रांति देश के लगभग सभी राज्यों में अलग-अलग सांस्कृतिक रूपों में मनाई जाती है।  इस पर्व की सबसे खास बात यह है कि यह एक ही तारीख 14 जनवरी को पूरे देश में मनाया जाता है। इस दिन से सूर्य उत्तरायण होता है, जब उत्तरी गोलार्ध सूर्य की ओर मुड़ जाता है।  तमिलनाडु में पोंगल,-कर्नाटक, केरल में सिर्फ कहा जाता है 'संक्रांति'... मकर संक्रांति पर्व देश के विभिन्न भागों में अलग अलग नामों से भी मनाय... Read more...
Logo
मकर संक्रांति का त्यौहार हिन्दू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है। यह त्यौहार 14 जनवरी को माघ माह में कृष्ण पंचमी को मकर सक्रांति देश के लगभग सभी राज्यों में अलग-अलग सांस्कृतिक रूपों में मनाई जाती है। इस दिन से सूर्य उत्तरायण होता है, जब उत्तरी गोलार्ध सूर्य की ओर मुड़ जाता है, इसलिए इसे मकर संक्रांति कहा जाता है। हिंदू धर्म में सूर्य की पूजा की जाती है और उन्हें सूर्य देवता के रूप में पूजा जाता है, जो पृथ्वी पर सभी जीवित प्राणियों का पोषण करते हैं। इस खास दिन दान और पुण्य का खासा महत्व है। इस मौ... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>>> मकर संक्रांति का त्यौहार हिन्दू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है। यह त्यौहार माघ माह में कृष्ण पंचमी को मकर सक्रांति देश के लगभग सभी राज्यों में अलग-अलग सांस्कृतिक रूपों में मनाई जाती है। इस दिन से सूर्य उत्तरायण होता है, जब उत्तरी गोलार्ध सूर्य की ओर मुड़ जाता है, इसलिए इसे मकर संक्रांति कहा जाता है।  हिंदू धर्म में सूर्य की पूजा की जाती है और उन्हें सूर्य देवता के रूप में पूजा जाता है, जो पृथ्वी पर सभी जीवित प्राणियों का पोषण करते हैं। इस बार मकर मकर संक्रां... Read more...
Logo
मकर संक्रांति का त्यौहार हिन्दू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है। यह त्यौहार माघ माह में कृष्ण पंचमी को मकर सक्रांति देश के लगभग सभी राज्यों में अलग-अलग सांस्कृतिक रूपों में मनाई जाती है। यह पर्व प्रत्येक वर्ष जनवरी के महीने में समस्त भारत में मनाया जाता है।  इस दिन से सूर्य उत्तरायण होता है, जब उत्तरी गोलार्ध सूर्य की ओर मुड़ जाता है। इस पर्व की विशेष बात यह है कि यह अन्य त्योहारों की तरह अलग-अलग तारीखों पर नहीं, बल्कि हर साल 14 जनवरी को ही मनाया जाता है।  लेकिन पिछले कुछ सालों से मकर संक्... Read more...
Logo
मकर संक्रांति का त्यौहार हिन्दू धर्म के प्रमुख त्योहारों में से एक है। यह त्यौहार माघ माह में कृष्ण पंचमी को मकर सक्रांति देश के लगभग सभी राज्यों में अलग-अलग सांस्कृतिक रूपों में मनाई जाती है। यह पर्व प्रत्येक वर्ष 14 जनवरी को पूरे भारत में मनाया जाता है।  मकर संक्रांति पर लोग खूब दान करते है। वहीं मकर संक्रांति पर कुछ काम करने से रोका भी गया है। वो कौनसे काम है जो हमें इस दिन नहीं करने चाहिए, आइए जानते है। इस पुण्य कार्य के दौरान किसी से भी कड़वे बोलना अच्छा नहीं माना गया है। इस दिन पुण्यकाल में ... Read more...
Logo
मकर संक्रांति का त्योहार हिन्दू धर्म के प्रमुख त्योहारों में शामिल है, जो सूर्य के उत्तरायण होने पर मनाया जाता है। इस दिन सूर्य धनु राशि को छोडक़र मकर राशि में प्रवेश करता है और सूर्य के उत्तरायण की गति प्रारंभ होती है। इस दिन खिचड़ी खाने के अपना एक अगल महत्व है। इसलिए कहीं-कहीं मकर संक्रांति को खिचड़ी के नाम से जाना जाता है। मकर संक्रांति का यह पर्व प्रत्यक्ष रूप से भगवान सूर्य से जुड़ा है। खिचड़ी का महत्व --- मकर संक्रांति को खिचड़ी के रूप में मनाये जाने के पीछे बहुत ही पौराणिक और शास्त्रीय मान्... Read more...
Logo
भारत में नींबू मिर्च को घरों, दफ्तरों, दुकानों, ट्रकों में लटकाना आम है। मिर्ची के साथ नींबू को लटकाना अच्छा माना जाता है। लोगों का मानना है कि इस से बुरी नजर नहीं लगती। ज्योतिष के अनुसार, नींबू और मिर्च लटकाने का अर्थ आज भी टोटके के रूप में जाना जाता है।  भारतीय संस्कृति मान्यताओं और दैवीय शक्तियों के मार्गदर्शन की और अग्रसर होने वाली प्राचीन सभ्यता है। हिन्दू धर्म जीवन की प्राथमिकताओं को आस्था और परंपरा की मर्यादा में रखकर खुशहाल एवं संपन्न जीवन यापन करने वाला एक विशेष धर्म है।  पौराणिक म... Read more...
Logo
दुनिया में कुछ चीजें ऐसी भी हैं, जिनको अपनाने से आपकी जिदंगी की दशा और दिशा दोनों बदल सकती है। ऐसी ही एक है काली हल्दी। तंत्र शास्त्र में इसे अचूक हथियार माना गया है। कहते हैं कि काली हल्दीी के टोटकों का असर कभी खाली नहीं जाता। काली हल्दी बड़े काम की है। वैसे तो काली हल्दी का मिल पाना थोड़ा मुश्किल है, किन्तु फिर भी यह पंसारी की दुकानों में मिल जाती है। यह हल्दी काफी उपयोगी और लाभकारक है। कुछ खास उपयोग हैं इसके-  यदि किसी के पास धन आता तो बहुत किन्तु टिकता नहीं है, उन्हे यह उपाय अवश्य करना चाहिए। शु... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>>> साल 2019 के पहले महीने में ही 2 ग्रहण लगने वाले हैं, जिनमें पहला ग्रहण 5 और 6 जनवरी को पड़ रहा है। 5 जनवरी की आधी रात से ही ये ग्रहण शुरू होगा जो 6 जनवरी दिन तक रहेगा। इस साल तीन सूर्य ग्रहण और दो चंद्र ग्रहण लगेंगे।  शास्त्रों के अनुसार इस समय किसी भी शुभ कार्य के लिए अच्छे दिन नहीं हैं तो ऐसे समय में लगने वाला सूर्य ग्रहण भी शुभ नहीं माना जा रहा है। लेकिन इस बार पडऩे वाले सूर्यग्रहण में कुछ राशियों के लिए अच्छा साबित हो सकता है।  ज्योतिष के अनुसार, भाग्यशाली राशियों को जिन... Read more...
Logo
नई दिल्ली (एजेंसी) >>>>>>>> साल 2019 में साल के पहले महीने में 5 और 6 जनवरी को साल का पहला सूर्य ग्रहण पड़ रहा है। हालांकि यह ग्रहण भारत में नजर नहीं आएगा। साल 2019 के शुरूआत के बाद पहले हफ्ते में ही साल का पहला ग्रहण है। भारतीय समयसीमा अनुसार, 5 जनवरी की आधी रात अर्थात 6 जनवरी की भोर में 5 बजकर 4 मिनट पर शुरू होगा जो कि सुबह के ही 09 बजकर 18 मिनट तक प्रभावी रहेगा।  साल 2019 के पहले महीने में ही 2 ग्रहण लगने वाले हैं। वहीं इस साल तीन सूर्य ग्रहण और दो चंद्र ग्रहण लगेंगे। बता दें 5 जनवरी की आधी रात से ही ये ग्रहण 6 जनवरी ... Read more...
Logo
हिन्दू धर्म में व्रत करने की ज्यादा मान्यता देखने को मिलती है। कुछ लोग सप्ताह में दिन के अनुसार व्रत रखते हैं, तो कुछ लोग किसी खास त्योहार या फिर मौकों पर। लेकिन आखिर व्रत रखा ही क्यों जाता है, आखिर इससे होता क्या है। कुछ ऐसे ही सवाल हो सकता है कि आपके भी मन में आते हों।  अगर ऐसा है तो आज हम कुछ ऐसे ही सवालों के जवाब लेकर आए हैं, जिसे जानकर आपको भी यह पता चल जाएगा कि मानव जीवन में व्रत क्यों जरूरी होता है और इसके क्या फायदे होते है। ज्योतिषियों के अनुसार, पूजा करने से घर में सुख-शांति आती है और घर में कभ... Read more...
Logo
हर व्यक्ति चाहत होती है कि वह प्यार ऐसी लडक़ी से करें जिसमे वो अपनी भविष्य की पत्नी का रूप देख सके। वहीं अगर प्यार की बात की जाएं तो कहा जाता है इस दुनिया में सच्चा प्यार हर किसी को हांसिल नहीं होता, लेकिन जिनको हो जाता है उनकी जिंदगी संवर जाती है। यहीं वजह है की आज हर व्यक्ति अपने जीवन में सच्चे प्यार की तलाश में लगे रहता है।  हर कोई चाहता है कि उसके जीवन में कोई ऐसा व्यक्ति जरूर हो जो उसे बेइंतहा प्यार करें, किंतु अधिकतर देखा गया है कि लोगों का प्यार पूरा नहीं हो पाता, किसी न किसी कारणवश धोखा हो ही जा... Read more...
Logo
हमसभी की यह इच्छा रहती है कि हमारे पास बहुत सारा धन हो जिससे हम अपना जीवन ठीक प्रकार से व्यतीत कर सके। अधिक धन कमाने के चक्कर में सभी लोग दिन-रात कड़ी मेहनत करते हैं। परंतु कड़ी मेहनत करने के बावजूद भी धन कमाने में सफलता हासिल नहीं हो पाती है।  अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो समझ लीजिए की आपके घर में दरिद्रता का वास है जिसकी वजह से आपके पास पैसे आते तो हैं लेकिन रूक नहीं पाते हैं। आज हम कुछ उपाय बताने जा रहे है जिनको अपनाकर आप भी घर में बसे दरिद्रता को दूर कर सकते है। वो कौन-कौनसे उपाय है आइए जानते है।... Read more...
Logo
हर व्यक्त्‍िा खुश रहना चाहता है लेकिन उसके अनुसार कोई भी उपाय नहीं करना चाहता। लाल किताब के अनुसार सभी बारह राशियों के जातकों के लिए ऐसे विशेष उपाय बताए गए हैं, जिनको अपनाकर बुरी किस्मत का पासा भी पलटा जाया जा सकता है-  मेष : यदि आपकी मेष राशि है तो आपको शीघ्र क्रोध, अचानक विचारों में परिवर्तन, अनियंत्रण, अंधभक्ति से बचना चाहिए।  वृष : इस राशि के जातकों को आलस्य, स्वार्थ व कामुकता, भौतिकवादी, क्रोध आदि से बचना चाहिए। ये सभी आदतें आपकी छवि को बिगाड़ सकती हैं।  मिथुन : आपको वाचालता, विविधता, दो काम ... Read more...
Logo
इस दुनियां में शायद ही ऐसा कोई इंसान होगा जो अपने दुर्भाग्य से पीछा छुड़ाना नहीं चाहता होगा, और व्यक्ति अपने दुर्भाग्य को सौभाग्य में बदलने के कुछ न कुछ प्रयास करते ही रहता। लेकिन दुर्भाग्य से पीछा छुड़ाना इतना आसान नहीं होता क्योंकि जब अनुभवी लोग कहते है कि अगर किसी इंसान का समय बुरा चल रहा होता है तो उसका खुद का साया भी साथ छोड़ देता है।  यदि आपके जीवन में बार-बार परेशानियां और रुकावटें आती रहती हैं, तो आप फेंगशुई शास्त्र की मदद से इसमें काफी हद तक परिवर्तन ला सकते हैं यानी दुर्भाग्य को सौभाग्... Read more...
Logo
हर पुरुष ऐसी महिला से शादी करना चाहता है जो उनके भाग्य खोल दें। ऐसे में कुछ स्त्रियों को बहुत ही लकी माना जाता है और वह अपने पति के भाग्य खोल देती हैं जिसके कारण उनकी किस्मत चमक जाती है और खूब पैसा आता है।  हिन्दू धर्म में महिलाओं को लक्ष्‍मी की उपाधि मिली है। कहा जाता की जिस घर मे महिलाओं को सम्मान नहीं मिलता उस घर मे लक्षमी का वास नहीं होता है। भगवान ने स्त्री को तो वैसे ही खूबसूरत बनाया है लेकिन शास्त्रो मे स्त्रियों के शारीरिक रचना से जुड़े कुछ ऐसे रहस्य बताए गए हैं जिसके बारे मे आपको पता नहीं ... Read more...
Logo
हमसभी इस बात से अच्छी तरह वाकिफ है कि सोमवार का दिन भगवान शिव का दिन माना जाता है। सोमवार को भगवान शिव की पूजा करने से वह अपने भक्तों पर जल्द प्रसन्न हो जाते हैं और उनका मनचाहा वरदान उन्हें दे देते हैं।  भगवान शिव को प्रसन्न करने में किसी भी मनुष्य को कठिनाईयों का सामना नहीं करना पड़ता है क्योंकि वह आसानी से शिव भगवान को खुश कर सकते हैं।  आज हम सपने में शिवजी से जुड़ी चीजें के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे भगवान शिव अपने भक्तों पर प्रसन्न होते है। आइए जानते है।  दौलतमंद बनने के लिए... अमीर बनन... Read more...
Logo
25 दिसंबर को ईसाई समुदाय के लोग यीशू मसीह के जन्मदिवस के रूप में मनाते हैं। मान्यताओं के अनुसार कहा जाता है कि इस दिन ईसा मसीह का का जन्म नहीं हुआ था। कहा जाता है कि उनका जन्म अक्टूबर में हुआ था, लेकिन फिर भी ईसा मसीह का जन्मदिन मनाने के लिए इस दिन को चुना गया। दरअसल, इसके पीछे एक दिलचस्प किस्सा है। चौथी शताब्दी से पहले ईसाई समुदाय इस दिन को त्योहार के रुप में नहीं मनाते थे। मगर, चौथी शताब्दी के बाद इस दिन ईसाईयों का प्रमुख त्योहार मनाया जाने लगा। माना जाता है कि यूरोप में गैर-ईसाई समुदाय के लोग सूर्य ... Read more...
Logo
ईसाइयों का सबसे ब़डा त्योहार Christmas है। मान्यता के अनुसार इसी दिन ईसाई धर्म के संस्थापक ईसा मसीह का जन्म हुआ था। ईसाई धर्म का प्रमुख ग्रंथ बाईबिल है। इस ग्रंथ में कहीं भी ईश्वर के स्वरूप का दार्शनिक विवेचन नहीं मिलता। बाइबिल में मनुष्य के साथ ईश्वर के व्यवहार का जो इतिहास मिलता है, उससे ईश्वर के अस्तित्व और स्वरूप के बारे में भी जानकारी मिलती है। बाईबिल के पूर्वार्द्ध में वर्णित ईश्वर संबंधी धारणा से यह अवश्य स्पष्ट होता है कि ईश्वर एक है और वह अनादि, अनंत और सर्वशक्तिमान है। ईसाई धर्म के अनुसार क... Read more...
Logo
अगर लाख पैसा कमाने के बाद घर में पैसा नहीं टिकता हो तो इसका कारण वास्तुदोष हो सकता है। ऐसे में कुछ वास्तु उपाय कर न केवल पैसे को रोका जा सकता है बल्कि घर में धन की आमदनी भी बढाई जा सकती है। केवल करें ये उपाय-  घर में तिजोरी का मुंह उत्तर की ओर रखें। उतर की ओर रखने से धन में लाभ होता है और पैसा घर में टिका रहता है। धन रखने की जगह दक्षिण की तरफ नहीं होनी चाहिए। शयन कक्ष की दीवार या कोनों में मेटल यानी धातु की कोई चीज नहीं होनी चाहिए। बेडरूम की दीवारों के कोनों में किसी भी तरह की दरार नहीं होनी चाहिए। इससे ... Read more...
Logo
नए साल यानी 2019 के आगमन में कुछ ही शेष बचे है, और साल 2018 खत्म होने जा रहा है। सभी लोग 2019 का स्वागत करने के लिए तैयार हैं। हर कोई नए साल में खुशहाली और तरक्की की उम्मीद कर रहा है। ऐसे में अगर नए साल की शुरुआत में कुछ उपाय कर लिए जाएं तो पूरा साल शुभ हो जाएगा। साल का पहला दिन अगर शुभ हो जाएं तो पूरा साल ही अच्छा हो जाता हैं।  बहुत से लोग साल के पहले दिन 1 जनवरी को शुभ बनाने के लिए अधिकतर लोग मंदिर जाते हैं, पूजा-पाठ करते हैं। ऐसे में अगर नए साल की शुरुआत में कुछ अचूक उपाय कर लिए जाएं तो पूरा का पूरा साल ही शुभ हो जा... Read more...









   LIFE STYLE   
Pic
बीजिंग (एजेंसी) >>>>>>  डाइटिंग करने वालों के ... Read more